हैवानियत : 5 दिन की मासूम को मारकर दफना दिया, पुलिस ने निकलवाया शव

बच्ची की हत्या

हरियाणा : एक पिता पर अपनी ही पांच दिन की बच्ची को मारकर दफनाने के आरोप लगे हैं। इसलिए पुलिस ने कब्र से शव निकलवाया है, ताकि आरोपों की जांच की जा सके। मामला हरियाणा के फतेहाबाद जिले का है। स्वामीनगर में एक पिता पर अपनी ही पांच दिन की नवजात बच्ची की सल्फास चटवाकर हत्या करने का आरोप लगा है।

आरोपी मोहन लाल अनाजमंडी में पल्लेदारी का काम करता है और उसकी पहले से दो बेटियां व एक बेटा है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि तीसरी बच्ची के पैदा होने से खफा पिता ने ये सनसनीखेज कदम उठाया। पुलिस को इस मामले की भनक तब लगी, जब आरोपी की एक पड़ोसन सरोज ने एक औपचारिक शिकायत पुलिस को दी।

सूचना मिलते ही सिटी थानाध्यक्ष रिछपाल साहू, महिला थाना प्रभारी बिमला देवी के नेतृत्व में पुलिस की दो टीमें स्वामीनगर ढ़ाणी में स्थित आरोपी के घर पहुंची और आसपास के लोगों से पूछताछ की। फिर डयूटी मैजिस्ट्रेट व नागरिक अस्पताल के चिकित्सकों के एक बोर्ड के सामने पुलिस ने डीएसपी धर्मवीर पूनियां की अगुवाई में शिवपुरी स्थित बच्चों के कब्रिस्तान में जाकर कब्र खुदवाकर नवजात बच्ची का शव निकाला और उसे पोस्टमार्टम के लिए अग्रोहा मेडिकल भिजवा दिया। पुलिस ने पूछताछ के लिए मृतक बच्ची के पिता मोहन लाल को भी राऊंडअप किया है।

30 सितंबर को बच्ची ने जन्म लिया

बच्ची की हत्या

बच्ची की हत्या
पुलिस को दी शिकायत में मोहन लाल की पड़ोसन सरोज ने बताया है कि 30 सितंबर को उसके पड़ोसी मोहन लाल के यहां एक बच्ची ने जन्म लिया था। पड़ोसन होने के नाते वो भी अस्पताल में उससे मिलने गई थी। उस समय बच्ची बिल्कुल स्वस्थ थी, लेकिन बच्ची की मां कमजोर थी। इसलिए उसे अग्रोहा रेफर कर दिया गया।

सरोज ने आरोप लगाया कि इस बीच 7 अक्तूबर की सुबह उन्हें पता चला कि मोहन की बच्ची की मौत हो गई है। यह सुनकर जब वह उनके घर पहुंची तो बच्ची की मां रेणु जोर-जोर से रो रही थी और अपने पति को कह रही थी कि वो उसकी बच्ची को खा गया।

सरोज ने ये भी आरोप लगाया कि जब उसने आशंका के चलते पड़ोस में रहने वाले एक डॉक्टर को चेक करने के लिए बुलाया तो मोहन लाल ने डॉक्टर को मृत बच्ची की जांच तक नहीं करने दी। इतना ही नहीं, मोहन अपनी मृत बच्ची को लेकर घर से निकल गया और शमशान भूमि में जाकर दबा आया। सरोज ने बताया कि उसे व सभी पड़ोसियों को शक है कि मोहन ने अपनी बच्ची की हत्या की है और फिर उसे दफना दिया।

साली मीनाक्षी ने इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा

बच्ची की हत्या

बच्ची की हत्या
उधर, मोहन लाल की साली मीनाक्षी ने इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि कोई पिता अपनी फूल सी बच्ची को कैसे मार सकता है। मोहन लाल के घर में अपनी बहन की देखभाल करने पहुंची मीनाक्षी ने इसे पड़ोसियों की चाल बताया है। मीनाक्षी के अनुसार, बच्ची ने रविवार अलसुबह अपनी मां का दूध पिया था। दूध पीने के थोड़ी देर बाद ही उसकी नाक से दूध बाहर आया और बच्ची ने दम तोड़ दिया। पड़ोसियों ने नाम ना छापने के आग्रह पर बताया कि मोहन व उसकी पत्नी के बीच अकसर लड़ाई-झगड़ा होता रहता था। मोहन लाल शराब पीने का आदी था और झगड़ा भी इसी कारण से होता था।

मामले में एक शिकायत मिली थी। इसके बाद उच्चाधिकारियों की जानकारी में मामला लाया गया। डयूटी मैजिस्ट्रेट बीडीपीओ सोमबीर कादियान व सिविल अस्पताल के चिकित्सकों के पैनल के सामने बच्ची के शव को कब्र से बाहर निकाला है। अब इस बच्ची के शव पोस्टमार्टम अग्रोहा मेडिकल में विशेष पैनल से करवाया जाएगा।
डीएसपी फतेहाबाद

Back to top button
E-Paper