FIFA World Cup : जर्मनी की स्वीडन से टक्कर आज, सामने है हर हाल में जीतने की चुनौती

विश्व कप से जर्मनी का पहले दौर में बाहर होना नामुमकिन जैसा लगता है, लेकिन इसे हकीकत में बदलने के लिए दूसरे मैच में स्वीडन को हर हालत में हराना होगा।

सोची। विश्व कप से जर्मनी का पहले दौर में बाहर होना नामुमकिन जैसा लगता है, लेकिन इसे हकीकत में बदलने के लिए मौजूदा चैम्पियन को दूसरे मैच में स्वीडन को हर हालत में हराना होगा। पहले मैच में मैक्सिको से एक गोल से हारी जर्मन टीम अब कोई कोताही नहीं बरत सकती। उसका सामना जान्ने एंडरसन की मजबूत टीम से है जिसके पास यूरोप के सबसे प्रतिभाशाली स्ट्राइकरों में से एक एमिल फोर्सबर्ग है। जर्मनी के डिफेंडर मैट्स हमेल्स ने कहा कि मैं एमिल फोर्सबर्ग का बड़ा प्रशंसक हूं। वह महान खिलाड़ी है।

बुंडेस्लिगा और आर बी लेइपजिग के साथ दो सत्र में शानदार प्रदर्शन के बाद फोर्सबर्ग रूस आया है। जर्मन टीम में उसके क्लब के साथी खिलाड़ी टिमो वेरनेर भी हैं। प्लेऑफ में इटली को हराकर क्वालीफाई करने वाली स्वीडिश टीम ने पहले मैच में दक्षिण कोरिया को 1-0 से हराया।

मैक्सिको अगर कोरिया को हरा देता है तो स्वीडन और जर्मनी का मैच ड्रॉ रहने पर ग्रुप एफ से जर्मनी बाहर हो जाएगा। स्वीडन और मैक्सिको के बीच आखिरी मैच सिर्फ औपचारिकता का रह जाएगा क्योंकि दोनों अगले दौर में पहुंच चुके होंगे।

जर्मन टीम में अनुभवी खिलाड़ियों की भरमार है जिसने पिछले विश्व कप क्वालीफायर में स्टाकहोम में 5-3 से जीत दर्ज की थी, लेकिन बर्लिन में 4-4 से ड्रा खेला। यह पूछने पर कि क्या अतिरिक्त अनुभव का कोई फर्क पड़ेगा, हमेल्स ने कहा कि शायद यह हमारे लिये अच्छा है लेकिन कोई गारंटी नहीं है । किसी बात की गारंटी नहीं है।

Back to top button
E-Paper