राखी, भगवान गणेश की मूर्तियों पर नहीं लगेगा “GST”

नई दिल्ली: वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को रक्षा बंधन और गणेश चतुर्थी को ध्यान में रखते हुए बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि आने वाले रक्षाबंधन त्योहार पर हमने माल व सेवा कर (जीएसटी) से राखी को अलग कर दिया है। यानी राखी पर जीएसटी नहीं लगेगा। साथ ही गणेश की मूर्ति पर भी जीएसटी नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि मूर्ति, हस्तशिल्प, हैंडलूम ये सभी जीएसटी से बाहर रहेंगे। उन्होंने कहा कि ये सभी चीजें हमारी विरासत हैं। हमें इन्हें सम्मान के साथ रखना है।

वित्त मंत्री डिजिटल भुगतान पर बड़ा फैसला लिया

इससे पहले वित्त मंत्री डिजिटल भुगतान पर बड़ा फैसला लिया था। गोयल ने कहा था, ‘हमने एक पायलट परियोजना को शुरू करने का फैसला किया है। इसके लिए व्यापक रूपरेखा बनाई जा रही है ताकि रूपे डेबिट कार्ड, भीम, आधार, यूपीआई और यूएसएसडी लेनदेन पर प्रोत्साहन दिया जा सके। कहा गया था कि डिजिटल भुगतान करने वाले  ग्राहक को खरीद पर बनने वाले जीएसटी के 20% तक की राशि नकद वापस (कैश-बैक) मिल सकती है। इसकी अधिकतम सीमा 100 रुपए होगी। सुशील कुमार मोदी की अध्यक्षता में मंत्रियों की एक समिति ने रूपे और भीम एप के जरिए भुगतान पर प्रोत्साहन देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

उधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि अगर 2019 लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी की सरकार आई तो जीएसटी के मौजूदा 5 अलग-अलग स्तरों (स्लैब) को खत्म कर इसे एक ही स्तर वाला बनाएगी। इसके साथ ही पेट्रोल और डीजल को भी इसके दायरे में लाया जाएगा। कांग्रेस अध्यक्ष ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जो नोटबंदी से बच गए थे उन्हें इस गब्बर सिंह टैक्स ने मार दिया, खत्म कर दिया।

Back to top button
E-Paper