हत्या के मामले में पांच गिरफ्तार, खैरगढ़ में 15 दिन पहले हुई थी ठेकेदार की हत्या

भास्कर समाचार सेवा
फिरोजाबाद। खैरगढ़ थाना क्षेत्र में 15 दिन पहले हुई ठेकेदार की हत्या के मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को आला कत्ल के साथ गिरफ्तार कर लिया। मृतक की ट्रैक्टर-ट्रॉली के रौंदने से मौत हुई थी। मृतक के बेटे ने द्वारिकापुर निवासी युवक पर हत्या का आरोप लगाया था।
बता दें कि खैरगढ़ थाना क्षेत्र में 19 मई की दोपहर बाइक सवार चूड़ी डेकोरेशन ठेकेदार की ट्रैक्टर से रौंदकर हत्या करने के आरोप में दो सगे भाइयों समेत पांच आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। हत्या रंजिश में की गई थी। हत्यारोपितों की मंशा सड़क हादसे का रूप देने की थी। बुधवार को सभी आरोपित जेल भेजे गए। गांव द्वारिकापुर निकाऊ निवासी 50 वर्षीय रामवीर सिंह कोरी चूड़ी डेकोरेशन की ठेकेदारी करते थे। दोपहर एक बजे वह फिरोजाबाद स्थित एक गोदाम से चूड़ी लेकर बाइक से घर लौट रहे थे। गांव से करीब सात सौ मीटर दूर शिव बल्लभ कन्या इंटर कालेज के पास ट्रैक्टर-ट्राली ने उन्हें रौंद दिया था। ठेकेदार की मौके पर ही मौत हो गई थी। चालक ट्रैक्टर-ट्राली लेकर भाग गया था।
मृतक के पुत्र पंकज ने द्वारिकापुर निवासी पूर्व प्रधान सुरेंद्र, उनके भाई शिवराज, महेंद्र और सत्यदेव के खिलाफ हत्या करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। शव के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या करने की बात सामने आई। पुलिस विवेचना के दौरान द्वारिकापुर निकाऊ निवासी ललित कुमार का नाम भी सामने आने पर मुकदमा दर्ज किया गया था। एसपी ग्रामीण डा. अखिलेश नारायण सिंह ने बुधवार को पुलिस कार्यालय में बताया कि आरोपितों को आलाकत्ल ट्रैक्टर के साथ सुबह गांव के पास से गिरफ्तार किया गया। आरोपितों ने बताया कि उनका रामवीर से जमीन आदि को लेकर रंजिश थी। न्यायालय में मुकदमा चल रहा था। न्यायालय से उनकी गिरफ्तारी के लिए गिरफ्तारी अधिपत्र (वारंट) जारी हुए थे। इस वजह से रामवीर की हत्या कर दुर्घटना का रूप देने का प्रयास किया गया। वार्ता के समय सीओ कमलेश कुमार व इंस्पेक्टर खैरगढ़ अनिरुद्ध कुमार भी उपस्थित थे।

Back to top button