ट्रक डकैती के प्रयास में असलहा सहित पांच बदमाश हत्थे चढे

कमल वर्मा/औरैया।

पुलिस अधीक्षक सुनीति के द्वारा चलाए जा रहे अपराधियों के खिलाफ धरपकड़ अभियान में सीओ बिधूना द्वारा गठित टीम ने 19 जून को एक ट्रक चालक व खलासी से डकैती का प्रयास कर रहे 5 बदमाशों को पुलिस ने ट्रक चालक व खलासी की निशानदेही पर अवैध असलहा सहित धर दबोचा उनके पास से मोटरसाइकिले तमंचा व कारतूस बरामद हुए। बिधूना थाना क्षेत्र के बेला बिधूना रोड पर 19 जून की शाम एक ट्रक यूपी 76 के 9966 फर्रुखाबाद से औरैया की तरफ आ रहा था जिसको चालक भारत सिंह चला रहा था उसके साथ उसका खलासी पियूष  भी ट्रक में सवार था।

ट्रक जैसे ही बेला रोड पर आगे बढ़ा था तभी दो मोटरसाइकिलों पर असलहा सहित सवार होकर आये सुनील सिंह पुत्र हरदेव सिंह, रामू पुत्र सत्यवीर सिंह सेंगर, प्रबल प्रताप सिंह पुत्र कल्लू , दुष्यंत उर्फ टंडन पुत्र उमेश सिंह, सभी निवासी बंथरा बिधूना तथा दीपू पुत्र दयाराम बाथम निवासी रतनपुर थाना बिधूना जनपद औरैया ने ट्रक को आगे जाकर घेर लिया और ट्रक चालक व खलासी पीयूष से जबरन असलहों के बल पर डकैती का प्रयास किया।

किसी तरह ट्रक चालक भारत सिंह खलासी सहित वहां से ट्रक को लेकर निकालने में कामयाब रहा और उसने थाना बिधूना में मुकदमा संख्या 380/19 धारा 395/511 दर्ज कराया।

सीओ बिधूना लालता प्रसाद शुक्ला के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया जिसमें टीम के प्रभारी थाना प्रभारी सुधीर सिंह ने ट्रक चालक भारत सिंह व खलासी द्वारा बताये हुए घटनास्थल की तरफ रवाना हुए जैसे ही बेला रोड पर वह अपनी टीम के साथ आगे बढ़े तो गाड़ी की रोशनी में सड़क के किनारे 5 लोगों को बंथरा मोड़ पर खड़े हुए देखा।

ट्रक चालक व खलासी ने पुलिस को बताया कि यह वहीं 5 लोग हैं जिन्होंने उसके साथ डकैती का प्रयास किया था। इस पर पुलिस टीम ने उन लोगों की तरफ गाड़ी बढ़ा दी और उन लोगों को ललकार ते हुए पकड़ना चाहा जिस पर मोटरसाइकिल छोड़कर डकैती का प्रयास करने वाले पांचों बदमाश वहां से भागने लगे। पुलिस द्वारा बल प्रयोग करते हुए उनको घेर कर दबोच लिया गया।

पकड़े गए बदमाशों ने पुलिस को बताया कि उन लोगों ने ही बीती शाम एक ट्रक चालक व खलासी से असलहे के बल पर डकैती का प्रयास किया था उनकी जामा तलाशी लेने पर उनके पास से एक अधिया बड़ा तमंचा 315 बोर दो जिंदा कारतूस, दो मोटर साइकिलें जिनमें एक अपाचे यूपी 79 आर 3076 तथा दूसरी टीवीएस यूपी 79 जे 3023 बरामद हुई है। पकड़े गए अभियुक्तों से पुलिस द्वारा गहराई से पूछताछ की जा रही है और पुलिस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि इस गिरोह के सदस्यों की अब तक किन घटनाओं में संलिप्तता रही है तथा इनका अपराधिक इतिहास क्या रहा है

Back to top button
E-Paper