गोरखपुर : बार्डर के जिलों से अब नहीं आ सकेंगे अवैध वाहन, एडीजी के सख्त तेवर से मचा हड़कंप

गोरखपुर। यूपी, बिहार व नेपाल बार्डर के जिलों पर तैनात सुरक्षा कर्मियों की मिली भगत से उत्तर प्रदेश सरकार को प्रतिमाह करोड़ो रूपये की राजस्व की क्षति पहुचाई जा रही है। हालांकि जोन के एडीजी के निर्देश पर देवरिया एसपी ने कड़ी कार्यवाई किया है। एडीजी ने यूपी के बार्डर पर पड़ने वाले सभी पुलिस चौकियों की जांच कर कार्यवाई किये जाने का निर्देश दिया है जिनके खिलाफ अवैध रूप से पैसा लेकर बिना कागजात के वाहनो को पास कराए जाने की शिकायते मिली हैं। एसपी देवरिया द्वारा की गई कार्यवाई से तो यह स्पष्ट हो गया है कि लार थाने की मेहरौना पुलिस चौकी की मिली भगत से माल वाहक वाहनो को पार कराया जा रहा है। 

 विदित हो कि बिहार प्रान्त के अन्य जिलों जो यूपी बार्डर से सटे हैं इन बार्डर पर तैनात कर्मियों द्वारा मोरंग माफियाओं से साठ गांठ करके अवैध रूप से (बिना परिपत्र के) मोरंग बालू एवं अन्य सामानों की सप्लाई धड़ल्ले से किया जा रहा है। बार्डर पर तैनात इन चौकियों पर तैनात कर्मियों की मिलीभगत से हर रोज सैकड़ो की संख्या में बिना कागजात के मोरंग बालू समेत अन्य माल वाहक ट्रकों को पार कराकर आसपास के जिलों में मनमानी रेट पर बेचा जा रहा है।

एडीजी दावा शेरपा ने कहा- 

 गोरखपुर जोन के एडीजी दावा शेरपा ने कहा कि इस तरह की शिकायतें मिली थी कि बिना प्रपत्र के मोरंग बालू के साथ ही अन्य माल वाहक ट्रकों को माफियाओं द्वारा पास कराया जा रहा है इस मामले में संबधित पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखकर कार्यवाई किये जाने के सख्त निर्देश दिए गए हैं।

Back to top button
E-Paper