मुख्यमंत्री के शहर का भाजपा पार्षद बना दस हजार का इनामी, कभी था मुख्यमंत्री का करीबी

गोपाल त्रिपाठी
गोरखपुरः राजघाट थाने पर हंगामा और ताड़फोड़ करने तथा पुलिस के कब्जे से अपने भाई को जबरिया छुड़ाने की कोशिश करने के आरोपित भाजपा पार्षद सौरभ विश्वकर्मा पर एसएसपी ने 10 हजार रुपया इनाम घोषित किया है। आरोपित पार्षद फरार चल रहे हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए राजघाट पुलिस छापा डाल रही है।
गोरखपुर: फरार बीजेपी पार्षद पर 10 हजार का ईनाम घोषित, थाने में हंगामा-तोड़फोड़ का है आरोप
असली और नकली हिन्दू युवा वाहिनी को लेकर हुए विवाद में राजघाट पुलिस ने 31 जुलाई को एक कार्यकर्ता को धमकी देने के आरोप में भाजपा पार्षद सौरभ विश्वकर्मा के भाई चंदन विश्वकर्मा को गिरफ्तार कर लिया था। चंदन हिन्दू युवा वाहिनी भारत से जुड़ा हुआ है। चंदन की गिरफ्तारी की सूचना पर हिन्दू युवा वाहिनी भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह अपने समर्थकों के साथ राजघाट थाने पर पहुंचे। उन्होंने चंदन को जबरिया छुड़ाने की कोशिश की। इस दौरान उनकी पुलिस कर्मियों से झड़प भी हुई।
पुलिस ने लाठीचार्ज कर समर्थकों को खदेड़ दिया और सुनील सिंह समेत नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया। थाने में हंगामा और तोड़फोड़ के अलावा अन्य संगीन धाराओं में पुलिस ने पार्षद सौरभ विश्वकर्मा पर भी मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश करना शुरू कर दी, लेकिन वह फरार चल रहे थे। राजघाट थानेदार की रिपोर्ट पर एसएसपी ने सौरभ पर दस हजार रुपये का इनाम घोषित किया है।

राजघाट थाना पर विवाद में नामजद मुकदमा

असली और नकली हियुवा के संगठन को लेकर विवाद चल रहा था. 31 जुलाई को हियुवा के कार्यकर्ता को धमकी देने के आरोप में पार्षद सौरभ के भाई चंदन को पुलिस ने अरेस्ट किया. चंदन को छुड़ाने की कोशिश में हियुवा भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह कुछ लोगों संग थाने पर पहुंचे. आरोप है कि चंदन को छुड़ाने के लिए सुनील ने अराजकता का सहारा लिया. लाठी चार्ज कर पुलिस ने सुनील सिंह सहित नौ लोगों को अरेस्ट कर लिया. इस मामले में सौरभ के खिलाफ नामजद एफआईआर हुई थी. तभी पुलिस की एक टीम सौरभ के तलाश में लगी है. सौरभ के सिद्धार्थनगर स्थित फार्म हाउस सहित कई ठिकानों पर नजर रखी जा रही है. गिरफ्तारी में नाकाम होने पर राजघाट प्रभारी ने एसएसपी को रिपोर्ट दी. फरार भाजपा पार्षद के खिलाफ एसएसपी ने 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया. मिर्जापुर मोहल्ले के पार्षद के खिलाफ आधा दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं.

Back to top button
E-Paper