लक्सर में मुर्दा खा रहे थे सरकारी राशन

दैनिक भास्कर समाचार सेवा

लक्सर। लक्सर के सेठपुर गांव में राशन डीलर की ओर से मृतकों के नाम पर राशन वितरण किए जाने का मामला सामने आया है जिसका खुलासा खुद गढ़वाल मंडल के उपायुक्त की जांच पड़ताल में हुआ है। आरोपी के विरुद्ध कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी गई है। क्षेत्र में सेठपुर गांव के राशन डीलर की ओर से मृतकों के नाम पर सरकारी राशन के गबन का मामला उजागर हुआ है। वंही इस मामले का खुलासा ख़ुद खाद्य विभाग के उपायुक्त की जांच में ही हुआ है।

खाद्य उपायुक्त की जांच पड़ताल में आया कारनामा

दरअसल खाद्य विभाग को लक्सर के सेठपुर गांव स्थित राशन की दुकान पर राशन वितरण में धांधली की शिकायत मिली थी जिस पर गढ़वाल मंडल के खाद्य उपायुक्त विपिन कुमार ने दुकान के राशन वितरण की गहनता से जांच की तो पता चला कि गांव में कई ऐसे लोग हैं जो वर्षों पहले मरने के बाद भी हर महीने सस्ते गल्ले की दुकान से राशन लेने आ रहे हैं।

इनके अलावा जांच में राशन कार्ड धारकों को राशन की आदायगी दर्शाई गई जबकि कार्ड धारकों को राशन वितरित किया ही नहीं गया इतना ही नहीं बल्कि कोरानाकाल में गरीब उपभोक्ताओं के लिए शुरू की गई मुफ्त राशन वितरण योजना का राशन भी पात्र लोगों को दिए बिना ही रजिस्टर में वितरण हो गया था साथ ही राष्ट्रीय खाद्य योजना के राशन वितरण में भी गंभीर कमियां पाई गई।

उपायुक्त की जांच रिपोर्ट आने के बाद जिला पूर्ति अधिकारी ने डीलर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश लक्सर की आपूर्ति निरीक्षण को दिए थे। आदेश पर पूर्ति निरीक्षक बबीता देवी ने कोतवाली पहुंचकर उपायुक्त की 28 पन्नों की जांच रिपोर्ट के साथ ही डीलर के खिलाफ तहरीर दी।

कोतवाल यशपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि तहरीर पर सेठपुर के राशन डीलर मांगेराम के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है। जिला आपूर्ति अधिकारी केके अग्रवाल ने बताया कि सेठपुर में सस्ते गल्ले की दुकान को निलंबित करने के आदेश भी दे दिए हैं।

राशन डीलरों के लाइसेंस सस्पेंड

रुड़की। डीएसओ केके अग्रवाल ने बताया कि लंढौरा के चारों राशन डीलरों के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए हैं। डीएसओ का कहना एक-दो दिन के अंदर दूसरे दुकानदारों को राशन वितरण की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। लंढौरा में चार राशन वितरण की दुकानें हैं। खाद्य सचिव सचिन कुर्वे के निर्देश पर सभी राशन की दुकानों पर जांच की जा रही है कि कोई राशन डीलर वितरण में धांधली तो नहीं कर रहा। खाद्य विभाग की टीम ने कुछ दिन पहले लंढौरा में राशन डीलरों की जांच की थी।

कार्रवाई के दौरान बड़े पैमाने पर राशन वितरण में धांधली मिलने पर संजय कुमार, परवेज आलम, साधुराम के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए थे। डीएसओ केके अग्रवाल ने बताया कि जांच के दौरान चौथे राशन डीलर की बंद मिली थी। जिसे छह जून को अभिलेखों के साथ देहरादून कार्यालय बुलाया गया था। डीएसओ का कहना है कि बड़ी अनियमिताओं के चलते चैथे डीलर संदीप कुमार का लाइसेंस भी सस्पेंड कर दिया गया है। डीएसओ केके अग्रवाल का कहना है कि आठ जून तक लोगों को राशन वितरण करने लिए दूसरे दुकानदारों को जिमेदारी सौंप दी जाएगी।

Back to top button