गोरखपुर में पूजा पांडालों के लिए गाइडलाइन, सुरक्षा के होने चाहिए पुख्‍ता इंतजाम

गोपाल त्रिपाठी 
गोरखपुर। जिलाधिकारी ने पूजा पांडालों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हेतु गाइडलाइन जारी किया है।
दुर्गा पंडाल में सजावट के जो भी कार्य किए जाएं, वहां तारों पर टेप निश्चित रूप से लगे हों। सजावट के संबंध में सहायक निदेशक विद्युत सुरक्षा से जांच कराकर सुरक्षात्मक पास हर हाल में प्राप्त कर लिया जाए। जिलाधिकारी ने सभी दुर्गा पूजा आयोजक समितियों को निर्देश दिए हैं।
दशहरा, दुर्गा पूजा पर्व को शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने के लिए जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पाण्डियन ने पूजा समितियों के साथ-साथ अखाड़ा संचालकों को भी आवश्यक निर्देश दिए हैं।
उन्होंने कहा है कि दुर्गा प्रतिमा पंडाल पारम्परिक स्थल पर ही बनें। विद्युत सजावट में सुरक्षा संबंधी सभी उपकरण लगाए जाएं। प्रतिमा पंडाल निर्माण के दौरान आवागमन का ध्यान रखें। कार्यकर्ताओं के नाम पते की सूची थाने को अवश्य उपलब्ध कराएं। विसर्जन के दिन तक पंडाल 24 घंटे कार्यकर्ताओं की शिफ्टवार डयूटी लगाई जाए। दर्शनार्थियों के लिए दो प्रवेश द्वार तथा दो निकास द्वार बनाएं जाएं। धारा 144 का कड़ाई से अनुपालन हो।
डीएम ने कहा कि पंडालों में अग्नि सुरक्षा के लिए अग्निशमन यंत्र, बालू, पानी आदि का पर्याप्त इंतजाम रखा जाए। आयोजक अपने स्तर से सीसीटीवी कैमरा लगवाएं। किसी से भी जबरन चंदा न लिया जाए। पंडाल या विसर्जन में हाकी, डंडा, स्टिक आदि का प्रदर्शन कतई न करें।
Back to top button
E-Paper