‘मोमो चैलेंज‘ के टारगेट को पूरा करने के लिए छात्र ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

No

लखनऊ, । सआदतगंज थाना क्षेत्र में सोमवार की देर रात नौंवी के छात्र ने मोबाइल के ऑनलाइन गेम ‘मोमो चैलेंज‘ के टारगेट को पूरा करने के लिए फांसी लगा ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मृतक छात्र के मोबाइल को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरु कर दी है।
पुलिस के मुताबिक, सआदतगंज के पुराना दरीबा निवासी शितला प्रसाद साहू पेशे से शिक्षक हैं। उनके परिवार में वृद्ध मां कमला देवी, पत्नी रमा साहू और दो बेटे उत्कर्ष (13) अंश (10) रहते हैं। उत्कर्ष क्षेत्र के ही एक इंग्लिश मीडियम स्कूल में कक्षा नौ का छात्र था।

Image result for मोमो चैलेंज

शितला प्रसाद ने बताया कि साली के घर श्री कृष्ण जन्माष्टमी पूजा कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वह सोमवार की रात पत्नी और छोटे बेटे अंश के साथ मेंहदीगंज गये थे। घर में दादी कमला देवी और बड़ा बेटा उत्कर्ष था।
शिक्षक ने बताया कि सोमवार की देर रात 11 बजे करीब कमला देवी कमरे में लेटी हुई थी, तभी पोते उत्कर्ष को अपने पास न पाकर उन्होंने अन्य कमरों में उसकी तलाश शुरु कर दी।

वह दूसरी मंजिल के कमरे में पहुंची तो उन्होंने देखा कि उत्कर्ष का शव छत के कुंडे से बेडशीट के सहारे फांसी पर लटका हुआ है। उत्कर्ष के फांसी लगाये जाने की जानकारी कमला देवी ने फोन पर अपने बेटे शितला प्रसाद को दी। बेटे की मौत की खबर सुनकर शिक्षक पूरे रिश्तेदार के साथ अपने घर पहुंचे, जहां उन्होंने बेटे का शव फांसी पर लटका देखकर सूचना पुलिस को दी। देर रात पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर घटनास्थल की जांच की।

सीओ बाज़ार खाला ने बताया कि तहकीकात में कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है, लेकिन जांच के दौरान पुलिस को यह पता चला है कि उनका बेटा उत्कर्ष ऑनलाइन ‘मोमो चैलेंज‘ गेम खेलता था हो सकता है कि उसने इसी गेम में आये चैलेंज को पूरा करने के लिए यह कदम उठाया हो। फिलहाल पुलिस ने बच्चे के मोबाइल को कब्जे में लेकर जांच कर रही है।

Back to top button
E-Paper