हरिद्वार : सांई पालकी यात्रा में कलश लेकर चलती महिलाएं, लगे बाबा के जयकारे

भास्कर समाचार सेवा

हरिद्वार। सांई की पालकी उठा के देख ले, तेरा जन्म सफल हो जाएगा शिरडी आकर देख ले, शिरडी वाले सांई बाबा, सांईं की महिमा अपार, एक बार तो चलो साईं के दरबार, जैसे सांई बाबा के भजनों पर नाचते गाते हुए बड़ी संख्या में भक्त पालकी यात्रा में शामिल हुए। सांई भक्ति में लीन श्रद्धालुओं ने श्रद्धा सबूरी का संदेश दिया। भूपतवाला चौक बाईपास रोड़ स्थित श्री साई मंदिर के 29वें स्थापना दिवस के अवसर साईं पालकी शोभायात्रा यात्रा निकाली गई।

सांई पालकी यात्रा में लगे बाबा के जयकारे

शोभायात्रा रामलीला मैदान से शुरू होकर हरकी पैड़ी पहुंची। साईं बाबा का 108 कलश से स्नान कराया गया और इसके बाद पालकी शोभा यात्रा मंदिर में पहुंची। पालकी यात्रा की भव्यता से पूरा क्षेत्र साईंमय हो गया हर कोई साईं बाबा के जयकारे लगा रहे थे। साईं पालकी शोभायात्रा के संचालक सुनील नागपाल की देख रेख में भक्तों ने भाग लिया। इस दौरान मुख्य सेवक सुनील नागपाल ने कहा कि हर प्रकार के साधन होते हुए भी साई बाबा ने बिल्कुल साधारण जीवन बिताया और भक्तों को सामाजिक और धार्मिक जिम्मेदारियों की प्रेरणा दी थी।

श्रद्धालुओं ने श्रद्धा सबूरी का संदेश दिया, हरकी पैड़ी पर 108 कलश से हुआ स्नान

मुख्य ट्रस्टी प्रिया दत्त ने कहा की साई बाबा की पूजा अर्चना करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। भक्तो का कल्याण होता है। कष्टों से मुक्ति मिलती है। शोभायात्रा के दौरान जगह-जगह खाने के स्टॉल भी लगाए गए। साईं सेवकों ने प्रसाद वितरण किया। पालकी शोभायात्रा के बाद शाम के समय देहरादून से आए गायक विनोद डिमरी व दूरदर्शन कलाकार सुरेंद्र सक्सेना, मुकेश सक्सेना, अमित सक्सेना नने साईं भजनों द्वारा श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध किया। शोभायात्रा में 108 महिलाएं कलश लिए हुए चल रही थी। बैंड बाजारों पर बज रहे साईंभजनों से वातावरण साईंमय बना हुआ था।

Back to top button