प्राथमिक स्कूल के निरीक्षण के बाद अभाविप कार्यक्रम मे सीएम ने दिए निर्देश, कहा-

गोपाल त्रिपाठी
गोरखपुर।सीएम योगी आदित्‍यनाथ अपने गोरखपुर दौरे के दूसरे दिन गोरखनाथ कन्‍या प्राथमिक विद्यालय और मोहद़दीपुर प्राथमिक विद्यालय रेलवे के औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे। उन्‍होंने वहां बच्‍चों से बात की और स्‍कूलों में पढ़ाई के स्‍तर और दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी ली और बच्चो गणित का पहाड़ा और हिंदी की कविता सुनी पूछा की पढ़ाई कैसी हो रही है।तो बच्चो ने कहा बहुत अच्छी। स्‍कूल पर मौजूद शिक्षकों से मुख्यमंत्री  ने  विद्यालय की साफ सफाई  रखने के दिशा निर्देश भी दिए।
इसके बाद निपाल क्‍लब मैदान में आयोजित अखिल भारतीय विद्यार्थी  परिषद के प्रतिभा सम्‍मान सम्‍मान समारोह में सीएम पहुंचे हैं। वह वहां इंटरमीडिएट और स्‍नातक स्‍तर पर अच्‍छा प्रदर्शन करने वाले मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्‍मानित किया।  मेधावी छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छात्र छात्राओं के बीच में एक ऐसा संगठन है जो विद्यार्थियों को उनके मूल्यों उनके आदर्शों और इस देश के अंदर आजादी के पूर्व से इस देश की युवा पीढ़ी का हुआ है । उस भटकाव से अलग एक संस्था राष्ट्रीय वादी संगठन युवाओं का सबसे बड़ा संगठन कहा जाता है। वास्तव में हमेशा एक प्रश्न उठता रहा है कि युवाओं की दिशा क्या होनी चाहिए हम लोग जो युवा शक्ति के बारे में देखते हैं ,तो अक्सर मैं इस बारे में इस निष्कर्ष पर पहुंचता हूं इनमें और अपार ऊर्जा है इनमें अपार प्रतिभा है।
मुख्यमंत्री ने कहा अखिल विद्यार्थी परिषद आपकी प्रतिभा को निखारने का काम कर रहा है।वर्षों से छात्रों का सबसे बड़ा संगठन कहा जा सकता है। विगत 70 वर्षों से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद नई दिशा में देश के अंदर हर क्षेत्र में इस प्रकार का अभियान चलाया है। मुझे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बहुत नजदीक से जुड़ने इन कार्यक्रमों में सहभागी बनने इस देश के अंदर अनेक आंदोलनों काम करने और लोगों को एक दूसरे से जोड़ने शिक्षा में किये गए कार्यों को हमने बहुत करीब से देखा है ।
मुख्यमंत्री ने कहा इस कार्यक्रम में आने से पहले मैं दो बेसिक शिक्षा परिषद के निरीक्षण करने के लिए निकला था जब मुझे विधायक निधि से पैसा मिला था तो मैं जानना चाह रहा था कि सभी विद्यालयों में फर्नीचर लगा कि नहीं और विद्यालय में बच्चे क्या पढ़ रहे हैं यह भी जानने का मैंने प्रयास किया कुछ बच्चों ने बहुत अच्छा जवाब दिया पर कुछ बच्चों को और जागरुक करने और शिक्षा देने की आवश्यकता है
हर छात्र चाहता है मेरा समाज साक्षर हो मेरा समाज सुंदर हो मेरा समाज साक्षर हो मेरा समाज स्वच्छ हो पर इसकी कमी अभी दिखती है। स्वास्थ्य का लेवल इससे ज्यादा भी खराब है। उच्च शिक्षा के लिए एक बड़ा प्रयास किया जा रहा है एक तरह का पाठ्यक्रम सारे कालेजों में पढ़ाया जाए इनकी व्यवस्था की जा रही है
बच्चे हमारे स्कूलों में पढ़ते है और इन बच्चों के लिए उत्तम पठन पाठन की व्यवस्था की गई है।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड पूरे देश मे एक बेहतर बोर्ड बनकर सामने आएगा की परीक्षा के पूर्व हमने कहा था कि जो 2018 कि जो परीक्षा होगी उनमे नकल नही होंगे ,15 लाख ऐसे परीक्षाथियों ने परीक्षा नकल ना होने की खबर से छोड़ दी।एक बड़ी संख्या बच्चों की ऐसी होती हैं जो स्कूल नही जाते है ,और हमने स्कूल चलों अभियान भी चलाया है और ये आगे भी चलता रहेगा।
मैंने विधायक निधि से फर्नीचर की व्यवस्था करने को कहा था उसी का मैंने औचक निरीक्षण किया है अभी सारे स्कूलों में  फर्नीचर नहीं लग पाया है । लेकिन जहां लगे हैं उसी गुड़ावत्ता  की जांच मैन की है ।
इसमें शिक्षा संस्थाओं को भी आगे आना चाहिए था।
स्वच्छ भारत अभियान में उत्तर प्रदेश ने सबसे लंबी छलांग लगाई है,आज जिन लोगो के पास शौचालय नही था आज उनके पास शौचालय है । एक करोड़ 46 लाख शौचालय का निर्माण कर हमने एक एक शौचालय लोगो को दिया है।
भारत का दुनिया का वो देश है जो असंभव को संभव किया है, स्वच्छ भारत मिशन को हमने आगे बढ़ाय है
Back to top button
E-Paper