स्वास्थ्य विभाग पर हावी धामपुर में झोलाछाप चिकित्सक, बेखौफ होकर कर रहे प्रेक्टिस

शहजाद अंसारी

बिजनौर। चांदपुर में कोरोना संक्रमित डॉक्टर की मौत के बाद मचे हड़कम्प से पूरे जनपद में झोलाछाप व अपनी पैथी से इतर प्रेक्टिस करने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर क्षेत्रीय नोडल अधिकारी क्वेक्स ने झोलाछापो के विरुद्ध कार्रवाही कर अनियमितता पाए जाने पर उनके क्लिनिक व अस्पताल सील करने का सिलसिला जारी है। वहीं धामपुर में झोलाछाप व बडे बडे डॉक्टर नियमों को ताक पर रखकर स्वास्थ्य विभाग पर हावी होकर धड़ल्ले से प्रेक्टिस कर जिलाधिकारी के आदेशों की धज्जियां उड़ाने में लगे है। झोलाछापो का नेटवर्क इतना जबरदस्त है कि नोडल अधिकारी क्वेक्स भी इनपर कार्रवाही करने से कतरा रहे हैं जो अपने आप में चर्चा का विषय बना हुआ है।
       वैश्विक महामारी कोरोना के जनपद में पैर पसारने के साथ ही जिला प्रशासन स्वास्थ्य के मामले में फूंक फूंक कर कदम रख रहा है चांदपुर में कोरोना संक्रमण से हुई डॉक्टर की मौत के बाद हरकत में आये जिला प्रशासन ने निर्देश जारी किए है। जिलाधिकारी रमाकांत पांडेय ने स्वास्थ्य विभाग को झोलाछाप डॉक्टरों को चिन्हित कर कार्रवाही करने के कड़े निर्देश दिए है जिससे कोरोना संक्रमण किसी भी क्षेत्र में न फैल सके। जिलाधिकारी के निर्देश पर नगीना, नजीबाबाद, बढ़ापुर, नगीना देहात आदि में झोलाछापो व नियमों को तोडने वाले बडे हाॅस्पिटल चलाने वाले चिकित्सको के विरुद्ध अभियान चलाकर क्षेत्रीय नोडल अधिकारी क्वेक्स ने अनियमितता पाए जाने पर उनके क्लिनिक व अस्पताल सील करने का सिलसिला जारी कर रखा है।

वहीं धामपुर में झोलाछाप डॉक्टर व लाॅक डाउन का नियम तोडने वाले बडे बडे हाॅस्पिटल चलाने वाले चिकित्सक स्वास्थ्य विभाग पर हावी होकर धड़ल्ले से प्रेक्टिस कर जिलाधिकारी के आदेशों की धज्जियां उड़ाने में लगे है। नगर के कालागढ़ रोड, पक्काबाग पुराना धामपुर, बगदाद अंसार रोड, नूरपुर रोड जैतरा में झोलाछाप लोगों के जीवन से खिलवाड़ करने में लगे है और कोरोना काल मे स्वास्थ्य मानकों की धज्जियां उड़ा रहे हैं माना जा रहा है कि इन झोलाछापो का नेटवर्क इतना जबरदस्त है कि नोडल अधिकारी क्वेक्स भी इनपर कार्रवाही करने से कतरा रहे हैं जो अपने आप में चर्चा का विषय बना हुआ है। वहीं नोडल अधिकारी क्वेक्स डॉ पीके गुप्ता ने इस सम्बंध में बताया कि शीघ्र ही झोलाछापो के विरुद्ध कार्रवाही अमल में लाई जाएगी और अनियमितता पाये जाने पर उनके क्लिनिक व अस्पताल सील भी किये जायेंगे।

Back to top button
E-Paper