कानपुर : स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच को सुगम बनाने के लिए चलेगा ‘आयुष्मान भवः’ अभियान

कानपुर। मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में आयुष्मान भव अभियान की तैयारियों को लेकर बैठक विकास भवन सभागार में आयोजित की गई। बैठक में सीडीओ द्वारा अवगत कराया गया कि 13 सितंबर को राष्ट्रपति द्वारा इसका वर्चुअल शुभारंभ किया जाएगा। 17 सितंबर से अभियान शुरू होगा जो दो अक्तूबर तक संचालित किए जाएंगे। चिकित्सा व स्वास्थ्य देखभाल संबंधी गतिविधियाँ सेवा पखवाड़ा, आयुष्मान आपके द्वार 3.0, आयुष्मान सभा, आयुष्मान मेला, का आयोजन जनपद विकासखंड ग्राम पंचायत स्तरों पर किया जाएगा।

17 सितंबर से अभियान शुरू होकर दो अक्तूबर तक संचालित होगा

सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज के लक्ष्य को ध्यान में रखते और विभिन्न स्वास्थ्य सेवा योजनाओं के बारे में जागरूकता फैलाने और हर गांव तक महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच सुगम बनाने के उद्देश्य से आयुष्मान भवः अभियान का आयोजन किया जाये। केंद्र व प्रदेश सरकार की स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंचाने का काम किया जाय। आयुष्मान आपके द्वार 3.0 के तहत विशेष अभियान 17 सितम्बर से संचालित कर आयुष्मान भारत योजना के पात्रहित लाभार्थियों का आयुष्मान कार्ड बनाया जायेगा।

15 सितंबर तक माइक्रोप्लान एवं सभी प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरे कर लिए जाएं। अभियान में आयुष्मान भारत योजना के सौ फीसदी पात्र लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए जाएंगे। नगर निगम और पंचायती राज स्वच्छता का सघन अभियान चलाने के लिए पूरा ज़ोर देंगे। प्रत्येक शनिवार को आयुष्मान भारत – हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर आयुष्मान मेला लगाया जाएगा। प्रथम सप्ताह गैर संचारी रोगों, दूसरे सप्ताह संचारी रोगों जैसे टीबी, कुष्ठ व अन्य संक्रामक बीमारियों, तीसरे सप्ताह मातृ-बाल स्वास्थ्य एवं पोषण, और चौथे सप्ताह नेत्रदान देखभाल संबंधी गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।

आयुष्मान सभा हर गांव में आयोजित की जाएगी। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आलोक रंजन ने अभियान के सफल क्रियान्वयन व संचालन के बारे में विस्तार से अवगत कराया। इस मौके पर आयुष्मान योजना कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ आरपी मिश्रा, जिला चिकित्सालय के एसआईसी, सीएमएस, समस्त डिप्टी सीएमओ, एसीएमओ, चिकित्सा अधीक्षक, जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई, आयुष्मान भारत की डिस्ट्रिक्ट इम्प्लीमेंट इकाई, पंचायती राज, पूर्ति, नगर निगम विभाग के प्रमुख, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी समेत अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Back to top button