कानपुर : पुलिस की पिटाई से आहत दुकानदारों ने बंद की दुकानें, थाना प्रभारी को हटाने की मांग

  • नोटिस चस्पा कर ग्वालटोली थानाप्रभारी पर कारवाई की मांग पर अड़े व्यापारी
  • दुकानें खोलने का समय पूछने पर थाना प्रभारी पर लगा महिला समेत पुरुष दुकानदारों को पीटने का आरोप

कानपुर । ग्वालटोली थाना क्षेत्र के खलासी लाइन दुकानदारों ने बुधवार को दुकानों के बाहर नोटिस चस्पा कर दुकानें बंद कर दी। इसके साथ ही होम डिलीवरी भी बंद कर दी। दुकानदारों का आरोप है कि मंगलवार को थाना में यह पूछने गये थे कि कितने समय तक दुकानें खोलने का नियम है। इस पर थाना प्रभारी विजय पाण्डेय थाने के अंदर पुरुष और महिला दुकानदारों की जमकर पिटाई कर दी। दुकानदारों ने थाना प्रभारी को हटाने की मांग की है।

खलासी लाइन में रहने वाले दुकानदार विनोद गुप्ता, शुभ्रा, सोनू गुप्ता, अजय चौरसिया, विजय चौरसिया, आशीष जायसवाल ने बताया कि वह मंगलवार को सुबह आधा शटर उठाकर दुकान खोले हुए थे। उनके पास दुकान खोलने का बाकायदा पास भी है। वह सभी होम डिलीवरी भी करते हैं। अखबार में शाम सात बजे तक दुकान खुलने की खबर पढ़कर सभी लोग ग्वालटोली थाने में यह बात कन्फर्म करने गए थे कि दुकान खुलने का क्या नियम है। इस पर थाने में मौजूद पुलिस कर्मियों ने बाद में आने की बात कहकर टाल दिया।

जैसे सभी लोग थाने से बाहर निकले तभी ग्वालटोली इंस्पेक्टर विजय पांडेय आ गए और उन्होंने सभी दुकानदारों को थाने के अंदर बुला लिया। आरोप है कि थानेदार के इशारे पर पुलिसकर्मियों ने सभी को पीटना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं महिला दुकानदार को भी नहीं बख्शा गया और उसकी भी पिटाई कर दी। सभी दुकानदारों को गंभीर चोटें आयी हैं। पुलिस की पिटाई से आहत होकर दुकानदारों ने आलाधिकारियों से न्याय की गुहार भी लगायी थी पर थाना प्रभारी पर कोई कार्रवाई न होता देख बुधवार को दुकानें पूरी तरह से बंद कर दी। यहां तक खाद्य सामान, दूध और सब्जी की भी इलाके में बिक्री नहीं हुई। दुकानदारों ने अपने दुकानों के बाहर नोटिस भी चस्पा कर दिया है कि जब तक थाना प्रभारी पर कार्यवाही नहीं होगी तब तक न दुकानें खुलेगीं और न ही होम डिलीवरी होगी। एक साथ इलाके की सभी दुकानें बंद होने से क्षेत्रीय लोग परेशान हो गये पर दुकानदार अपने फैसले पर अडिग हैं।


मामले में क्षेत्रधिकारी कर्नलगंज अजीत कुमार रजक ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। घटना की जांच की जा रही है। साथ ही उच्चाधिकारियों को भी पूरे मामले से अवगत करा दिया गया है। रही बात दुकानदारों द्वारा दुकानें बंद करने की तो उनसे बातचीत जारी है और जल्द ही दुकानें खुलवा दी जाएंगी।

Back to top button
E-Paper