कश्मीर : आतंकी मूसा के खात्मे के बाद अब अब्दुल हमीद बना नया चीफ

श्रीनगर । अंसार गजवात उल हिन्द (एजीएच) संगठन के कमांडर तथा आतंकी जाकिर मूसा की 23 मई को एक मुठभेड़ के दौरान मौत होने के बाद अब्दुल हमीद ललहारी उर्फ हारुन अब्बास को संगठन का नया चीफ बनाया गया है। हालांकि ललहारी को आतंकी संगठन एजीएच का कमांडर बनाने की घोषणा पहले ही की जा चुकी थी लेकिन संगठन ने इसकी आधिकारिक पुष्टि शुक्रवार को की है।

हिजबुल मुजाहिद्दीन से जुड़े रहे कमांडर जाकिर मूसा को 27 जुलाई 2017 को अंसार गजवत उल हिन्द का चीफ बनाया गया था। अंसार गजवत उल हिन्द आतंकी संगठन अल कायदा की ही एक शाखा का नाम है। इस संगठन का काम भारत में अल कायदा की गतिविधियां फैलाना है।

कश्मीर में मूसा के खात्मे के बाद अब्दुल हमीद बना अंसार गजवत उल हिंद का नया चीफ

कश्मीर में अल कायदा की पहचान बने एजीएच के प्रवक्ता अबु उबैदा ने शुक्रवार को एक ऑडियो संदेश जारी कर हमीद ललहारी को अंसार गजवात उल हिन्द (एजीएच) कश्मीर का नया कमांडर बनाए जाने का खुलासा किया है। इसके साथ ही उसने गाजी इब्राहिम खालिद को डिप्टी चीफ बनाने का ऐलान भी किया है। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने इस ऑडियो में जारी किए गए संदेश की वैधता की जांच शुरू कर दी है

सूत्रों के अनुसार अब्दुल हमीद ललहारी काकपोरा पुलवामा का निवासी है जिसका पूरा नाम अब्दुल हमीद लोन है। वह मई 2016 से आतंकी गतिविधियों में सक्रिय है। उसे वर्ष 2016 में अबु दुजाना ने लश्कर-ए-तैयबा आतंकी संगठन में शामिल किया था। इससे पूर्व वह लश्कर का ओवर ग्राउंड वर्कर था। वर्ष 2017 के अंत में ललहारी जाकिर मूसा के गुट का हिस्सा बन गया था। सुरक्षाबलों ने ललहारी पर सात लाख का इनाम घोषित कर रखा है।

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में 1 जुलाई से अमरनाथ यात्रा शुरू होने वाली है। इस दौरान पूरे डेढ़ महीने तक जम्मू से लेकर अमरनाथ तक की तीर्थयात्रियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सुरक्षाबलों के हाथों में है। इस संवेदनशील मौके पर अंसार गजवत उल हिन्द द्वारा नये कामंडर का ऐलान सुरक्षा बलों के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है।

Back to top button
E-Paper