कातिल कोरोना : यूपी के ताजा आंकड़े हैं खौफनाक, हर मिनट पर नया केस, जाने अपने जिले का हाल

हरदोई )। केजीएमयू की रिपोर्ट में हरदोई के 07 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। जिले के सण्डीला से 02, भरखनी से 02 व शाहाबाद के 03 नए मरीज कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।  गुजरात, महाराष्ट्र से हरदोई में आये सात और व्यक्तियों की कोरोना पाॅजिटिव रिपोर्ट आई है। जिन्हें क्वारेटाइन सेंटर लखनऊ भेजने की तैयारी की गई। हरदोई में कोरोना की दस्तक से प्रशासन की मुश्किलें बढ़ गई है और अब जिले में नियमों के पालन में अधिक सख्ती दिखाई जाएगी। वहीं जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 11 हो गयी है।

अपर जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि गुजरात एवं महाराष्ट्र के कारखानों में मजदूरी करने गये लोगों की आई रिपोर्ट पाॅजिटिव आयी है। गुजरात, महाराष्ट्र से वापस आने पर 14 मई को सैंपल भेजे गये थे। हॉट स्पॉट क्षेत्र को पूरी तरह सील किया गया है। किसी को भी आवागमन की अनुमति नहीं है।

गौरतलब है कि इससे पूर्व बिलग्राम क्षेत्र में दो और शाहाबाद क्षेत्र में दो कारोना पॉजिटिव मिले थे। अब संडीला ने 02, भरखंनी में 02, एवं शाहाबाद क्षेत्र में 03 कोरोना पॉजिटिव मिलने से जिले में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर ग्यारह हो गई है।
 
फर्रुखाबाद में पांच और मिले कोरोना संक्रमित रोगी, जनपद में 13 हुई कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या

फर्रुखाबाद । जिले में शनिवार को आई जांच रिपोर्ट में जिले के कमालगंज थाना क्षेत्र में 5 और कोरोना संक्रमित रोगी मिले है। जिससे अब संख्या 13 पंहुच गयी है| शनिवार को आई जाँच रिपोर्ट में कमालगंज के गांव राजेपुर सरायमेदा के 45 वर्षीय शान मोहम्मद, 45 वर्षीय इरशाद हुसैन, 45 वर्षीय मिनाजुल हसन, 29 वर्षीय इनजार अली, 26 वर्षीय मो० जीशान कोरोना पॉजिटिव मिले है। अब जिले में कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या 13 हो गयी है।

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह नें बताया कि कोरोना पॉजिटिव मुम्बई से लौटे प्रवासी है। सभी को जसवंत नगर इटावा मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। बताते चले कि, अब तक ग्रीन जोन में रहे फर्रुखाबाद जिले में कोरोना को मुंम्बई के एक मॉल में नौकरी कर रहा शिबू लेकर आया। जिले के कस्बा शमशाबाद का रहने वाला है। कमालगंज के राजेपुर सराय मेदा में आज संक्रमित मिले यह पांचों रोगी उसी के साथी बताए जा रहे है। यह सभी लोग टैम्पो से भाग कर फर्रुखाबाद गए थे। शिबू के पकड़े जाने में बाद जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने इन सभी को एकांत वास के केंद्र में रखा था। इनके खून के नमूने जांच के लिए लखनऊ भेजे गए थे। जिनकी रिपोर्ट आज प्राप्त हुई जिसमें पांच लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। पिछले आठ दिन तक ग्रीन जोन में रहे फर्रुखाबाद को मुंबई से आये इस युवक ने रेड जोन के मुहाने पर खड़ा कर दिया है।

राजेपुर सराय मेदा में पांच मरीज संक्रमित मिलने से जिले में हड़कम्प मच गया है। कमालगंज विकास खण्ड के गांव जरारी में भी मुंबई से भाग कर कई प्रवासी मजदूर बिना जांच कराए छुपे हुए है। जिनकी वजह से यहां कभी भी कोरोना बम फूट सकता है। कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या जिले में 13 पहुंचने पर हड़कम्प मचा हुआ है।

मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर चंद्र शेखर का कहना है कि घबराने की जरूरत नहीं है। लोग साफ सफाई और सामाजिक दूरी का ख्याल रखें। पूर्ण बंदी का पालन करें। तभी हम इस महामारी पर विजय पा सकेंगे।
 
आजमगढ़ में कोरोना से पहली मौत, मरने के बाद आयी जांच रिपोर्ट

आजमगढ़, । जिले में मुम्बई से आये युवक की संदिग्ध मौत के बाद शनिवार को रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने से हड़कम्प मच गया। जिले में कोरोना से यह पहली मौत है। शव को स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकाल के अनुसार दाह संस्कार कर दिया गया। वहीं परिवार सहित अन्य सदस्यों को हॉस्पिलट में क्वारंटाइन कर उनके जांच सैंपल लिये जा रहे हैं। साथ ही उसकी ट्रैवल हिस्ट्री भी खगाली जा रही है।

13 मई को जहानागंज थाना क्षेत्र के शुम्भी और नेतपुर गांव में दो युवक ट्रक से अलग-अलग घर पहुंचे। देर रात उनको बुखार और सांस लेने में तकलीफ हुई तो सुबह परिजनों ने राजकीय मेडिकल कॉलेज में उपचार के लिए भर्ती कराया जहां उनके जांच सैम्पल लिये गये। लेकिन देर रात उनकी हालत खराब होने पर दोनों को उपचार के लिए केजीएमयू लखनऊ के लिए भेजा गया। जहां शुक्रवार को नेतपुर गांव के रहने वाले युवक की मौत हो गयी। लेकिन जांच रिपोर्ट नहीं आने से उसके शव को जिलाधिकारी ने अंतिम संस्कार नहीं होने दिया था। शनिवार को जांच रिपोर्ट आने पर मृतक कोरोना पॉजिटिव आया। जिसके बाद हड़कम्प मच गया। शव को कोरोना प्रोटोकाल के तहत तीन लेयर में प्रीजर्व किया गया। इसके बाद दो कर्मचारी और मृतक के चचेरा भाई ने पीपीई किट में शव को अंतिम संस्कार किया।

Back to top button
E-Paper