Kisan Credit Card : अब घर बैठे ऐसे बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड, SMS से भी करा सकते हैं पंजीकरण

लखनऊ. किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) से किसानों को बिना गारंटी और बेहद कम ब्याज दर पर पांच लाख रुपए तक लोन मिलता है। वर्ष 1998 से शुरू हुई केसीसी (KCC) योजना के जरिए किसान को जरूरत के समय आसानी से ऋण मिल जाता है। पहले किसान क्रेडिट क्रेडिट बनवाने में महीनों लग जाते, लेकिन अब किसान सेवा पोर्टल (mKisan) के जरिए आप घर बैठे मात्र 15 दिनों में किसान क्रेडिट बनवा सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसान (Kisan) खुद ही ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। SMS के जरिए या फिर टोल फ्री नंबर पर कॉल करके भी किसान क्रेडिट कार्ड के लिए पंजीकरण (Kisan Credit Card Registration) कराया जा सकता है। घर बैठे किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं, इस बारे में पत्रिका संवाददाता राम सुमिरन मिश्र ने बात की सुलतानपुर के जिला कृषि अधिकारी विनय कुमार वर्मा से।

जिला कृषि अधिकारी विनय कुमार वर्मा ने बताया कि किसान घर बैठे किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं। ऑनलाइन किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसान सेवा पोर्टल पर जाकर आवेदन करें। या फिर सीधे http://mkisan.gov.in/hindi/wbreg.aspx लिंक पर जाकर केसीसी के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। लेकिन, किसान अगर खुद रजिस्ट्रेशन नहीं करा सकते तो पास के सामान्य सेवा केंद्र (सीएससी) में जाकर, ग्राम स्तरीय उद्यमी के द्वारा रजिस्टर हों सकते हैं। केसीसी पंजीकरण करवाने के लिए एक बार में तीन रुपए का शुल्क ग्राम स्तरीय उद्यमी द्वारा लिया जाएगा।

केसीसी रजिस्ट्रेशन के लिए जैसे ही आप http://mkisan.gov.in/hindi/wbreg.aspx लिंक पर क्लिक करेंगे। सबसे पहले मोबाइन नंबर मांगा जाएगा। मोबाइल नंबर भरते ही रजिस्टर बटन पर क्लिक करेंगे तो आपके फोन पर एक वेरीफिकेशन कोड आएगा। वेरीफिकेशन कोड भरते ही रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। यहां मांगी गई जानकारी भरने के बाद किसान क्रेडिट कार्ड रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। उसके बाद किसानों को पंजीकरण नम्बर मिल जायेगा, जिससे किसान अपने आवेदन की प्रगति भी जान सकते हैं। 

एसएमएस से भी करा सकते हैं पंजीकरण
किसान क्रेडिट कार्ड का रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए किसान 51969 या 7738299899 पर एक एसएमएस भेजकर पंजीकरण करा सकते हैं। इसके लिए आपको SMS बॉक्स में टाइप करना होगा- “किसान GOV REG < नाम > , <राज्य का नाम>, <जिला का नाम>, <ब्लॉक का नाम > (राज्य, जिला और ब्लॉक के नाम के केवल पहले 3 वर्णों की आवश्यकता होती है) संदेश लिखने के बाद 51969 या 7738299899 पर भेज दें। मैसेज लिखते समय अल्पविराम (,) का विशेष ध्यान रखें।

किसान कॉल सेंटर से करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन
किसान क्रेडिट कार्ड के लिए अगर आप न तो इंटरनेट से रजिस्ट्रेशन करा पा रहे हैं और न ही एसएमएस भेज पा रहे हैं तो आपके लिए तीसरा विकल्प किसान कॉल सेंटर है। किसी भी फोन से किसान कॉल सेंटर (केसीसी) के टोल फ्री नंबर 1800-180-1551 पर कॉल करें। किसान कॉल सेंटर एजेंट आपसे डिटेल पूछेगा, जिसके बाद उसकी मदद से आप किसान क्रेडिट कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे। रजिस्ट्रेशन होने के बाद किसानों को उसके फोन पर तुरंत एक स्वागत एसएमएस संदेश प्राप्त होगा। 

आवेदनों की खुद जांच करता है राजस्व विभाग
किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए अब बैंकों, तहसीलों और राजस्व कर्मियों के पास भाग-दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। किसान सेवा पोर्टल पर आवेदनों की जांच-पड़ताल और तथ्यों की जांच राजस्व विभाग खुद करेगा और डाक्यूमेंट को सत्यापित कर रिपोर्ट देगा। राजस्व विभाग द्वारा सत्यापित रिपोर्ट के बाद बैंक सारी औपचारिकताएं पूरी कर 15 दिनों के भीतर किसान को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करना पड़ेगा। ऑनलाइन प्रक्रिया होने से पहले अभी तक किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए खतौनी, खसरा, 61 (ख ) की नकल, बैंक पासबुक की प्रति और कई अन्य प्रपत्र लगाना पड़ता था। इसके बाद बैंकों के विधि सलाहकार (बैंको के वकील) मौके पर पहुंचकर खतौनी का मूल्यांकन कर अपनी रिपोर्ट देते थे। ऐसे में किसानों को केसीसी पाने में 4 से 6 महीने तक लग जाते थे।

ऐसे होता है खसरे का मूल्यांकन
बैंकों के अधिवक्ता तहसीलों में जाकर खतौनी और खसरे को निकाल कर तस्दीक करते थे, लेकिन खतौनी का मूल्यांकन खसरे में लिखी जाने वाली फसलों के आधार पर किया जाता है। इसके लिए अपर मुख्य सचिव डॉ. देवेश चतुर्वेदी ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर यह कहा है कि सभी किसानों का केसीसी बनवाने के लिए तैयार एप्लिकेशन साफ्टवेयर का क्रियान्वयन करें। 

किसान क्रेडिट कार्ड पर 4 फीसदी सालाना ब्याज
किसान क्रेडिट कार्ड के लोन के ब्याज पर भारत सरकार 2 प्रतिशत सब्सिडी दे ही है। इतना ही नहीं सही समय पर केसीसी का ऋण चुकाने वालों को सरकार की तरफ से 3 प्रतिशत की प्रोत्साहन छूट भी दी जाती है। किसान क्रेडिट कार्ड पर सालाना ब्याज 4 फीसदी देय होता है।

किसान क्रेडिट कार्ड की अहम बातें
किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसान के नाम खतौनी होनी अनिवार्य है। केसीसी के लिए आवेदक की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 75 वर्ष होना चाहिए। इसके अलावा किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने वाले किसान की खतौनी किसी बैंक या संस्था के पास बंधक नहीं होनी चाहिए। डॉक्यूमेंट्स में खतौनी 61(ख) की जरूरत होती है। आईडी प्रूफ के तौर पर पहचान पत्र, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस मान्य है। वहीं, एड्रेस प्रूफ के लिए वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, आधार या ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक दस्तावेज मान्य है। जरूरी कागजात लेकर सीधे बैंक प्रबंधक से सम्पर्क कर किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं। या फिर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

Back to top button
E-Paper