जाने कैसे अपनी सकारात्मकता और मेहनत के जरिए “फील प्रीटी” की संस्थापक प्रियंका सर्मचारजी बदल रही है लोगों की जिंदगी

वो कहते है न कुछ तो लोग कहेंगे लोगो का काम है कहना, कोई चांद की चांदनी पर दिल वार देते है तो कुछ लोग चांद में भी दाग ढूंढते है। कहने का तात्पर्य है कि यह दुनिया ही ऐसी है जहां आपकी खूबियों से पहले आपकी खामियों पर ध्यान दिया जाता है। पर एक सत्य ये भी है कि यदि हम अपनी खामियों पर काम कर लेते है तो हमारे अंदर एक नई ऊर्जा व आत्मविश्वास का संचार होता है। ऐसा ही कुछ जादू भारत की मशहूर मेकअप आर्टिस्ट प्रियंका सर्मचारजी कई सालो से करती आ रही है। प्रियंका महज़ 19 साल की उमर से ही मेकअप सीखना व करना शुरू कर दिया था। और आज प्रियंका देश की नामचीन मेकअप आर्टिस्ट्स में से एक है। अपने सफ़र को याद कर प्रियंका कहती हैं कि यह उनके लिए बिल्कुल भी आसान नहीं था, समाज से लड़कर, कई चुनौतियों को भेद कर आज वह इस मुकाम पर पहुंची है। उनका कहना है कि यह काम उन्हें बेहद खुशी देता है व जब उनके मेकअप की वजह से किसी और के चेहरे पर मुस्कान आती है तो उन्हें अपने आप पर बेहद गर्व महसूस होता है। ऐसा ही एक किस्सा वो याद कर भावुक भी हो गई जब उन्होंने बताया कि उनकी एक क्लाइंट जो विटिलिगो से पीड़ित थी, वह अपने रंग रूप की वजह से काफी परेशान रहती है और समाज में अक्सर उन्हें निराशा झेलनी पड़ती थी। आपको बता दे विटिलिगो त्वचा की एक ऐसी विशेषता हैं जिसमे त्वचा का कुछ भाग अपना वर्णक (पिग्मेंट) खोने लगते हैं व शरीर पर सफेद दाग दिखने लगते है। परंतु जब उस लड़की ने प्रियंका से अपना मेकअप करवाया तो वह बेहद खुश हुई व उनके अंदर एक नई ऊर्जा व आत्मविश्वास का संचार हुआ और इसलिए प्रियंका आज भी इस मुकाम पर इतना खुश हैं क्योंकि वह अपने काम से लोगो की जिंदगी लगातार बेहतर बना रही हैं। आपको बता दें प्रियंका ‘फील प्रिटी’ नाम का ब्रांड भी चलाती हैं जो मेकअप उत्पादकों का एक बहुत बड़ा ब्रांड बन चुका है।

Back to top button