जानिए CM योगी आदित्यनाथ को अब तक किसने और कब-कब दी जान से मारने की धमकी

लखनऊ. बीते दिनों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी मिली थी। जिसे महाराष्ट्र एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का नाम कामरान अमीन खान है और उसकी उम्र 25 साल के करीब है। कामरान ने सीएम को एक विशेष समुदाय का विरोधी बताते हुए बम से उड़ाने की धमकी दी थी। हालांकि यह पहला मौका नहीं था जब सीएम योगी को निशाना बनाया गया है। इससे पहले बिहार पुलिस के जवान तनवीर खान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गोली मारने की धमकी दी थी। जिसे यूपी पुलिस ने बिहार के नालंदा गिरफ्तार किया था। वहीं यूपी के आजमगढ़ में योगी के काफिले पर हमला हुआ था, जिसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन ने ली थी।

बम से उड़ाने की धमकी

बीती 22 मई को पुलिस मुख्यालय लखनऊ के सोशल मीडिया डेस्क पर आरोपी के मोबाइल फोन से योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी का एक मैसेज आया था। संदेश भेजने वाले ने सीएम को एक विशेष समुदाय का विरोधी बताते हुए बम से उड़ाने की धमकी दी थी। इसको लेकर गोमती नगर पुलिस में मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई। साथ ही महाराष्ट्र एटीएस को इसके इनपुट शेयर किए गए और मिले हुए मोबाइल नंबर को ट्रैक करने पर उसकी लोकेशन मुंबई के चूनाभट्टी इलाके में मिली। जिसके बाद धमकी देने वाले युवक को महाराष्ट्र एटीएस ने मुंबई से गिरफ्तार कर लिया है।

मुंबई से हुआ गिरफ्तार

गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र एटीएस ने युवक को यूपी एसटीएफ को सौंप दिया। आरोपी कामरान अमीन खान की उम्र 25 साल के करीब है। कामरान मुंबई के चूना भट्टी थानाक्षेत्र की न्यू महाडा कालोनी का रहने वाला है। जांच में सामने आया कि वह ड्रग्स लेता है। वहीं कामरान और उसके परिवार का फिलहाल अभी तक यूपी से कोई कनेक्शन नहीं मिला है। एसटीएफ के अधिकारियों ने बताया कि कामरान और उसका परिवार पहले मुंबई के मांडवी में बीपी लेन बोरी मोहल्ला स्थित सुगराबाई बिल्डिंग में रहता था। लेकिन वहां बिल्डिंग में मरम्मत का काम चालू होने के चलते पूरा परिवार चूना भट्टी इलाके में शिफ्ट हो गया। पूछताछ में सामने आया कि कामरान पांचवीं पास है। वह झावेरी बाजार में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था। साल 2017 में स्पाइनल टीवी का ऑपरेशन होने के बाद से वह काम नहीं कर रहा था। उसके पिता चुन्नू खान टैक्सी चलाते थे, जिनकी दो महीने पहले मौत हो गई।

24 अप्रैल को भी मिली थी धमकी

हाल ही में यूपी पुलिस ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोली मारकर हत्या करने की धमकी देने वाले पुलिसकर्मी तनवीर खान को बिहार के नालंदा गिरफ्तार किया था। बिहार पुलिस के जवान तनवीर खान ने पिछले महीने 24 अप्रैल को फेसबुक के माध्यम से सीएम योगी आदित्यनाथ को गोली मारकर हत्या कर देने की धमकी दी थी। इसके बाद यूपी पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए धमकी देने वाले बिहार पुलिस के जवान तनवीर खान को बिहार के नालंदा गिरफ्तार किया था।जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार पुलिसकर्मी तनवीर खान उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिला स्थित दिलदार नगर थाना क्षेत्र के रकसदा गांव का रहने वाला है।

आजमगढ़ में योगी के काफिले पर हुआ था हमला

यूपी के आजमगढ़ में योगी के काफिले पर हमला हुआ था, जिसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन ने ली थी। दरअसल 7 सितंबर 2008 को योगी आदित्यनाथ आजमगढ़ के डीएवी कॉलेज के मैदान में राष्ट्र रक्षा रैली का आयोजन करने जा रहे थे। इस बीच उनके काफिले पर हमला हुआ था। सीएम योगी को आजमगढ़ में विरोध की पहले से ही आशंका थी, इसलिए टीम योगी पहले से ही तैयार थी। काफिला आजमगढ़ से थोड़ी ही दूर था तब योगी की गाड़ी बदल दी गई। योगी सुरक्षित काफिले के साथ शहर में स्थित डीएवी कॉलेज पहुंच गए। इस बीच खबर आई कि सीएम योगी के काफिले पर हमला हो गया। इस दौरान कई गाड़ियों के शीशे टूटे और कई लोगों को चोटें आईं। उधर कॉलेज में सीएम योगी को सुनने के लिए 50 हजार से अधिक लोग जुट गए थे। लोगों ने योगी को मंच पर जाने से रोका लेकिन वे नहीं रुके। यह रैली लगभग तीन घंटे तक चली। इस दौरान सीएम योगी ने अपने काफिले पर हुए हुए जानलेवा हमले पर एक शब्द भी नहीं कहा। सभा के बाद भारी पुलिस बल के संरक्षण में योगी के काफिले को वापस गोरखपुर भेजा गया।

Back to top button
E-Paper