लखनऊ: केजीएमयू लैब में 641 सैम्पल में 03 (+) केस, यूपी 10 ग्रीन जोन में भी मिले कोरोना संक्रमित के मामले, देखें लिस्ट

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की जांच के बाद रविवार को भी विभिन्न जनपदों में नये मरीज सामने आये हैं। किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में शनिवार को जांच किये गए 641 सैम्पल में से रविवार को तीन की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें कन्नौज, फर्रुखाबाद और संभल का एक-एक मरीज है।

रिपोर्ट के मुताबिक कन्नौज के रोगी में 27 वर्षीय पुरुष, फर्रुखाबाद के रोगी में 20 वर्षीय युवक और संभल के रोगी में 19 वर्षीय युवक है। ये सभी सम्बनिधत जिलों के अस्पतालों में भर्ती हैं।

इसके अलावा अन्य प्रयोगशालाओं की जांच में भी लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हुआ कासगंज जनपद भी शामिल है। यहां कोरोना ने फिर दस्तक दे दी है। यहां तीन युवक कोरोना संक्रमित मिले हैं। शनिवार देर रात इनकी जांच रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग की मिली। इससे पूर्व तीन मरीज मिले थे, जो ठीक हो गए थे।

मेरठ में कोरोना संक्रमण के शनिवार को 21 नए मरीज मिलने के बाद पुलिस प्रशासन की नींद उड़ी हुई है। डीएम अनिल ढींगरा के निर्देश पर प्रशासन ने रेजीडेंसी अपार्टमेंट साकेत समेत 4 नए हॉटस्पॉट बनाए हैं। यहां सभी हॉटस्पॉटों पर दो-दो मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। प्रशासन और पुलिस ने सभी हॉटस्पॉट को सील कर दिया है। अग्रिम आदेश के बिना किसी भी प्रकार का कोई भी आवागमन नहीं हो सकेगा।

हालांकि प्रदेश में बेहतर इलाज की बदौलत ठीक होने वाले मरीजों की दर राष्ट्रीय दर के मुकाबले ज्यादा है। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य, अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक मरीजों के ठीक होने की की राष्ट्रीय दर 30.00 प्रतिशत है। वहीं उत्तर प्रदेश में यह बढ़कर अब लगभग 43.00 प्रतिशत हो गई है। इसमें लगातार इजाफा हो रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड मरीजों की देखभाल में लगे हुए मेडिकल काॅलेजों के चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों को राज्य सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार संक्रमण रोकथाम एवं बचाव सम्बन्धी गाइडलाइन्स (आईपीसी प्रोटोकाॅल) का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी एवं निजी मेडिकल काॅलेजों में पीपीई किट एवं एन-95 मास्क की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता सुनिश्चित होनी चाहिए।

इन 10 नए जिलों में मिले कोरोना मरीज-
1 मई से लेकर 9 मई तक 10 नए जिले (जो ग्रीन जोन में थे) कोरोना प्रभावित की फेहरिस्त में शामिल हुए हैं। इनमें सिद्धार्थ नगर, देवरिया, महोबा, अमेठी, कुशीनगर, चित्रकूट, फतेहपुर, फर्रुखाबाद, हमीरपुर, व ललितपुर शामिल हैं। शनिवार तक सिद्धार्थ नगर में 19, देवरिया में 3, महोबा में 2, कुशीनगर में 3, अमेठी में 5, चित्रकूट में 6, फतेहपुर में 2, फर्रुखाबाद, हमीरपुर, ललितपुर में एक-एक मरीज सक्रिय हैं। ग्रीन जोन में शामिल जिलों में कोरोना मरीज मिलने से स्वास्थ्य महकमे की चिंताएं बढ़ा दी है। वहीं अंबेडकर नगर, बलिया, चंदौली, सोनभद्र वह जिले हैं जो अभी भी कोरोना की पहुंच से दूर हैं।

मेडिकल व्यवस्था हो रही मजबूत-

इस बीत राहत यह है कि लोग तेजी से स्वस्थ्य भी रो रहे हैं। प्रतिदिन 100 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य होकर घर जा रहे हैं। अमित मोहन के मुताबिक राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना मरीजों की रिकवरी दर लगभग 30 प्रतिशत है, जबकि उत्तर प्रदेश में यह दर लगभग 43 प्रतिशत है। इसी के साथ ही यूपी की स्वास्थ्य से जुड़ी व्यवस्थाओं को और मजबूत किया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग लैब की संख्या बढ़कर 26 हो गयी है। निजी एवं सरकारी लैब में की गई जांचों को मिलाकर प्रदेश में अब तक 1,24,791 कोरोना के टेस्ट किए जा चुके हैं। प्रदेश में एल-1, एल-2 एवं एल-3 अस्पतालों में कुल 53,459 बेडों की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है, जिसमें राजकीय, निजी मेडिकल कॉलेजों में 24,266 बेड तथा सरकारी चिकित्सालयों में 29,193 बेड उपलब्ध हैं।

देखें एक नजर में घोषित ग्रीन जोन का हाल-

आज आए इन जिलों मेें मामले- फर्रुखाबाद, हमीरपुर, ललितपुर

हाल के दिनों में इन नए जिलों में मामले आए सामने- सिद्धार्थ नगर, देवरिया, महोबा, अमेठी, कुशीनगर, चित्रकूट, फतेहपुर

काफी समय से यहां नहीं मिले मरीज मामले- महाराजगंज, हाथरस, बाराबंकी, लखीमपुर खीरी, शाहजहांपुर, कानपुर देहात

यह जिलें हैं अभी भी कोरोना की पहुंच से दूर– अंबेडकर नगर, बलिया, चंदौली, सोनभद्र

Back to top button
E-Paper