लखनऊ : अजंता हॉस्पिटल के डॉक्टर ने लगाया मरीज को गलत इंजेक्शन, मौत

लखनऊ । राजधानी में लगातार प्राइवेट अस्पतालों की धन उगाही और लापरवाही से आम लोगों को जूझना पढ़ रहा है । डॉक्टरों की लापरवाही से लगातार मरीजो की मौत हो रही है । लेकिन स्वास्थ विभाग इन प्राइवेट हॉस्पिटलों पर लगाम लगाने में नाकामियाब साबित हो रहे है । शनिवार को  ऐसा ही एक मामला थाना आलमबाग क्षेत्र में स्थित अजंता हॉस्पिटल का  आया है । जहां डॉक्टरों ने मरीज को गलत इंजेक्शन दे दिया जिससे 2 मरीज की मौत हो गई । डॉक्टरों ने मरीज़ को हाई डोज़ इंजेक्शन लिखा जिसकी कीमत लगभग 1400 थी । लेकिन जो मरीज़ को इंजेक्शन लगाया गया वह बेहद लो क्वालिटी का था जिसकी कीमत मात्र 56 रुपय थी । परिजनों ने गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप लगाते हुए अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा काटा । सूचना पर पहुंचे सीओ समेत कई थानों की फोर्स ने परिजनों को आश्वस्त करते हुए बवाल खत्म कराया ।

पूरा मामला

आलमबाग थाना क्षेत्र स्थित अजंता हॉस्पिटल का है । जहां हरवंश कुमार पाण्डेय ने अपनी माता जी को कुछ दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया । जहां डॉक्टरों ने हालत गंभीर बताते हुए आईसीयू में भर्ती करने को कहा । जब उनकी माता आईसीयू में भर्ती हो गई तो अस्पताल प्रशासन ने उन्हें उनसे एक बार भी मिलने नहीं दिया और कल उनकी मृत्यु हो गई । पूरे इलाज के नाम पर अस्पताल प्रशासन ने लगभग 5 से 6 लाख की मोटी रकम भी वसूल ली । हालांकि परिजनों ने मौत को साधारण समझ कर अंतिम संस्कार कर दिया उसके बाद हरवंश के पिता की तबीयत बिगड़ गई तो हरवंश ने फिर अजंता में ही अपने पिता जी को भर्ती कर दिया ।
डॉक्टरों ने एक बार फिर हालत गंभीर बता कर आईसीयू में भर्ती करने को कहा और लम्बी चौड़ी दवा लिख दी । इस बार हरवंश डॉक्टर भांजी भी उनके साथ थी जब उसने डॉक्टरों की लिखी दवा देखी तो चौक गई । लिखे हुए पर्चे में इंजेक्शन हाई डोज़ था लेकिन जो इंजेक्शन लगाया जा रहा था वह लो क्वालिटी का घटिया इंजेक्शन था जिससे उनके मरीज की हालत बिगड़ गई । इसके अलावा एक और मरीज़ की मौत हो गई । जिसके बाद अस्पताल में परिजनों ने हंगामा काट दिया ।
वहीं मृतिका की डॉक्टर नाती ने आरोप लगाते  हुए कहा कि हॉस्पिटल के परिक्रिप्शन में जो हाई डोज़ इंजेक्शन लिखा गया था डॉक्टरों ने उन्हें न देकर कर घटिया इंजेक्शन मरीज़ को लगाया । जिससे उनकी मौत हो गई साथ ही पैसा लूटने का आरोप भी लगाया है ।
वही हंगामे की सूचना पर मौके पे पहुँचे क्षेत्राधिकारी आलमबाग संजीव सिन्हा ने बताया परिजनों ने अस्पताल पर गलत ट्रीटमेंट का आरोप लगाया है जिसमें 2 मरीज़ों की मृत्यु हो गई है । परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है । साथ ही जांच कर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी ।
Back to top button
E-Paper