लखनऊ यूनिवर्सिटी में शिक्षकों से मारपीट के मामले में एसएसपी की कुर्सी खतरे में !

लखनऊ यूनिवर्सिटी में प्रॉक्टर और शिक्षकों से मारपीट के मामले में लखनऊ एसएसपी दीपक कुमार की कुर्सी खतरे में पड़ती दिखाई दे रही है. एसएसपी दीपक कुमार इस घटना के बाद शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करके अपना पक्ष रखा था. वहीं बताया जा रहा है कि एसएसपी पर कार्रवाई भी हो सकती हैं. दूसरी तरफ नये एसएसपी के तौर पर जोगिंदर कुमार के नाम की चर्चा बनीं हुई है. फिलहाल इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने स्वत: संज्ञान लेते हुए डीजीपी ओपी सिंह को तलब किया था.

LU में गुंडई: SSP दीपक कुमार की जगह जोगिंदर कुमार के नाम की चर्चा

शुक्रवार को डीजीपी ओपी सिंह जस्टिस विक्रमनाथ और जस्टिस राजेश सिंह चौहान की कोर्ट में पेश हुए थे. उनके साथ हटाए गए सीओ महानगर अनुराग सिंह और एसपी नार्थ अनुराज वत्स भी हाईकोर्ट पहुंचे थे. लखनऊ यूनिवर्सिटी की घटना पर हाईकोर्ट ने पुलिस से हलफनामा दाखिल करने को कहा है. मामले की अगली सुनवाई 16 जुलाई को होगी. कोर्ट ने वीसी से यूनिवर्सिटी को सुरक्षित रखने पर सुझाव मांगा है.

मामले की जांच आईजी लखनऊ रेंज सुजीत पांडे को सौंप दी है.

इससे पहले डीजीपी ओपी सिंह ने मामले की जांच आईजी लखनऊ रेंज सुजीत पांडे को सौंप दी है. वहीं सीओ महानगर अनुराग सिंह को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है. इसके अलावा लखनऊ यूनिवर्सिटी के चौकी इंचार्ज को निलंबित कर दिया है. वारदात में लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं.

Back to top button
E-Paper