लखनऊ :  रोज छापते थे लाखो के जाली नोट, ऐसे हुआ खुलासा; एसटीएफ ने 2 लोगों को गिरफ्तार

लखनऊ: प्रिंटर और स्कैनर से छापते थे नकली नोट, एसटीएफ ने 2 लोगों को गिरफ्तार

लखनऊ : यूपी की एसटीएफ टीम के हाथ एक बड़ी सफलता लगी है। लखनऊ में एसटीएफ ने नकली नोट छापने के गोरखधंधे का भंडाफोड़ किया है। इस मामले के भंडाफोड़ (exposed) के बाद टीम ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से करीब 9000 के नकली नोट, प्रिंटर और स्कैनर, पेपर कटर आदि बरामद किए हैं।

इस टीम ने की छापेमारी

जानकारी के मुताबिक, एसटीएफ की इंस्पेक्टर विजेंद्र शर्मा की टीम ने शनिवार पुलिस उपाधीक्षक सत्यसेन यादव के नेतृत्व में देर रात लखनऊ के चिनहट इलाके में छापे मारी की। यहां टेल्को इंडस्ट्री के पास धावा गांव से देशराज यादव और राम रतन शर्मा को गिरफ्तार किया।

ये सामान हुया बरामद

एसटीएफ की टीम को ये सूचना मिली थी कि राजधानी के चिनहट थाना क्षेत्र के भारत गेस्ट हाउस में कुछ लोग किसी तरह का गोरखधंधा कर रहे हैं। मौके से एसटीएफ की टीम को 8700 रूपये नकली नोट, 1300 रूपये असली नोट, एक अदद प्रिन्टर स्कैनर, एक अदद ई-रिक्शा, एक अदद पेपर कटर, तीन अदद मोबाइल फोन, अदद सिम अलग अलग कम्पनी के, 112 आध-बने नकली नोट और तीन अदद कॉटेज टोनर कलर सिरिंज आदि समान बरामद हुया।

ये हैं आरोपी

गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ की टीम ने दोनों आरोपियों से पूछताछ शुरू कर दी। जिसमें उन दोनों ने अपने नाम देश राज यादव बाराबंकी के सुबेहा थाना क्षेत्र के पूरे डाला का निवासी ओर राम रतन शर्मा बरेली के भमोरा थाना क्षेत्र के पुखर्नी का निवासी बताया। दोनों के खिलाफ एसटीएफ टीम ने उन दोनों पर कार्रवाई शुरू कर दी है।

 

Back to top button
E-Paper