मैनपुरी: अधिकारी आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से करें पालन – जिला निर्वाचन अधिकारी

मैनपुरी। जिला निर्वाचन अधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने लोकसभा उप निर्वाचन-22 को निष्पक्ष, शांतिपूर्ण निर्भीक एवं विभिन्न कार्यों को ससमय सम्पन्न कराने हेतु तैनात अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में कहा कि सभी लोग निर्धारित आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करायें, अपने-अपने कार्यालय परिसर, विभाग की भूमि कहीं पर भी किसी भी दल, पार्टी का झंडा, बैनर, पोस्टर, होर्डिंग, वाॅल राइटिंग आदि प्रचार सामिग्री लगी न रहे, सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों, कार्यालय भवनों पर आदर्श आचार संहिता का पालन कड़ाई से सुनिश्चित करायें।

उन्होने कहा कि सभी अधिकारी, कर्मचारी भी आदर्श आचार संहिता का पालन करें, पूरी तरह निष्पक्ष रहकर लोकसभा उप निर्वाचन को निष्पक्ष, शांतिपूर्ण माहौल में सम्पन्न कराने, सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन निष्ठा के साथ करें।जिला निर्वाचन अधिकारी ने लोकसभा उप निर्वाचन को स्वतंत्र, निष्पक्ष, त्रुटिरहित व शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने हेतु तैनात किये गये प्रभारी, सह प्रभारी अधिकारियों को आदेशित करते हुये कहा कि जिस अधिकारी को जो जिम्मेदारी सौंपी गयी है, उसका निर्वहन भलि-भांति करें, अपने कार्यों, दायित्वों के प्रति सजग रहें।

उन्होने कहा कि सभी अधिकारी प्रतिदिन के कार्यों की चैकलिस्ट बना लें, प्राथमिकता वाले कार्यों को चिन्हित कर जिस दिन जो कार्य होना है, उसी तिथि को किया जाये, इस कार्य में किसी भी स्तर पर कोताही अक्षम्य होगी। उन्होने प्रभारी अधिकारी यातायात से कहा कि मतदान प्रक्रिया को सम्पन्न कराने के लिए कार्मिकों हेतु प्रयोग में आने वाले वाहनों का अधिग्रहण की प्रक्रिया तत्काल पूर्ण की जाये, हल्के-भारी वाहनों की आवश्यकता का आकलन कर वाहनों का अधिग्रहण किया जाये।

उन्हें पार्टी रवानगी स्थल पर समय से पहुंचने हेतु निर्देशित किया जाये, अधिग्रहित किये गये वाहनों को किस पैट्रोल पम्प से ईंधन लेना है, इसका पूरा खाका तैयार किया जाये, वाहनों की पार्किंग में कोई अवरोध न हो, मतदान कार्मिकों को वाहन ढूंडने में कोई असुविधा न हो, इसका पूरा ख्याल रखा जाये। डीएम ने प्रभारी अधिकारी कार्मिक से कहा कि पीठासीन अधिकारियों, मतदान अधिकारियों की फीडिंग का कार्य प्राथमिकता पर कराकर उनके प्रशिक्षण की तिथियां निर्धारित कर उन्हें सूचित किया जाये, सभी मतदान कार्मिकों को सामान्य जानकारी के साथ-साथ विशेष तौर पर वैलेट यूनिट, कंन्ट्रोल यूनिट, वीवी पैट को आपस में कनेक्ट करने, इलैक्ट्राॅनिक वोटिंग मशीन में आने वाले एरर, माॅकपोल के उपरांत सी.आर.सी. कर उपस्थित एजेंटों को टोटल बटन दवाकर दिखाने के उपरांत ही ईवीएम की सीलिंग हेतु हिदायत दी जाये।

उन्होने प्रभारी अधिकारी रूटचार्ट को आदेशित करते हुये कहा कि तत्काल रूटचार्ट तैयार किये जायें, सभी मतदेय स्थलों, मतदान केन्द्रों पर मूल-भूत सुविधाएं यथा पीने हेतु स्वच्छ पानी, महिला-पुरूष शौचालय की क्रियाशीलता के साथ शौचालयों में पानी की उपलब्धता, प्रकाश व्यवस्था, मतदान कार्मिकों के रात्रि प्रवास हेतु व्यवस्था आदि के मुकम्मल इंतजाम किये जायें। उन्होने उप जिलाधिकारियों, तहसीलदारों से कहा कि अपने-अपने क्षेत्र के मतदान केन्द्रों का स्थलीय भ्रमण कर सभी व्यवस्थाएं देखें, जहां कोई कमी हो उसे तत्काल सम्बन्धित विभाग के अधिकारी से समन्वय स्थापित कर दूर करायें, मतदान के दिन किसी प्रकार की असुविधा मतदान कार्मिकों, मतदाताओं को न हो, सुनिश्चित किया जाये।

उन्होने कहा कि क्षेत्र भ्रमण के दौरान क्षेत्र के मतदाताओं से अवश्य बात करें, उनसे फीडबैक लिया जाये, क्षेत्र के शरारती तत्वों, गत निर्वाचनों में विघ्न डालने वालों पर पैनी नजर रखी जाये, प्रत्येक मतदान केन्द्र के प्रमुख व्यक्तियों, सम्भ्रांत नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, क्षेत्र के शासकीय कार्मिकों के मोबाइल नम्बर भी क्षेत्रीय लेखपाल, सचिव, अन्य ग्राम स्तरीय अधिकारियों, कर्मचारियों के पास उपलब्ध रहें, संवेदनशील, अति संवेदनशील, वर्नरेवल मतदान केन्द्रों का चिन्हांकन कर उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी, सम्बन्धित थानाध्यक्ष संयुक्त रूप से भ्रमण करें।

Back to top button