मई में ’आधा अरब से ज्यादा’ की शराब गटक गए मथुरावासी

भास्कर समाचार सेवा
मथुरा। मई महीने में मथुरावासी आधा अरब से ज्यादा की शराब गटक गए। वहीं मई महीने में सरकार ने मथुरा से शराब, बीयर की बिक्री से करीब पचास करोड़ रुपये कमा लिए। मथुरा जनपद का आबकारी विभाग प्रदेशभर में तय लक्ष्य के सापेक्ष राजस्व वसूली के मामले में प्रदेशभर में पांचवें नंबर पर रहा। वहीं मंडल में अव्वल है। भीषण गर्मी पड रही है। मई जून की तपिश से मथुरा नगरी भी तप रही है। मथुरा जनपद के राजस्व विभाग को मई के महीने का राजस्व लक्ष्य 45.81 करोड़ रुपये का लक्ष्य मिला था। जिसके सापेक्ष मथुरा से 49.47 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया गया। यह तय लक्ष्य से 107.99 प्रतिशत ज्यादा है। जबकि पिछले साल की तुलना में यह 171 प्रतिशत ज्यादा रहा है। महानगर मथुरा के 22 वार्डों में शराब, बीयर, भांग को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है। इन 22 शराब, बीयर और भांग की बिक्री, सेवन और परिवहन पूरी तरह से प्रतिबंधित किया गया है। ये वार्ड श्रीकृष्ण जन्मस्थान के आसपास के क्षेत्रों में आते हैं। विभाग का मानना है कि इसके बावजूद प्राप्त लक्ष्य शत प्रतिशत हासिल किया जाएगा।

कुमार प्रभात चंद्र, जिला आबकारी आयुक्त

जिला आबकारी आयुक्त कुमार प्रभात चंद्र ने बताया कि जून में शत प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति करेंगे। नगर निगम के 22 वार्डों में संचालित सभी 29 दुकानें बंद हो रही हैं, जिलाधिकारी द्वारा बताया गया है कि अवशेष लाइसेंस फीस वापस की जाएगी। पुख्ता सूचना होने पर पुलिस और आबकारी विभाग द्वारा सख्त कार्रवाही की जाएगी।

कहां से कितना मिला राजस्व

बीयर- 30 करोड़ 67 लाख 08 हजार 283
देशी शराब- 11 करोड 28 लाख 16 हजार 247
विदेशी शराब- 17 करोड़, 99 लाख, 86 हजार 247

Back to top button