राहुल पर टिप्पणी करने वाले BSP उपाध्यक्ष पर गिरी गाज मायावती ने दिखाया बहार का रास्ता

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को विदेशी मां की औलाद बताने वाले जयप्रकाश सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इसके साथ ही यह साफ कर दिया है कि पार्टी में परिवारवाद, जातिवाद के साथ व्यक्तिगत स्वार्थ, व्यक्तिगत लांछन व छींटाकशी करने वालों के लिए कोई जगह नहीं है।

एक्शन में आयी बसपा सुप्रीमो मायावती

मायावती ने कहा कि बसपा में अनुशासनहीनता को ना तो पहले कभी बर्दाश्त किया है और ना ही आगे कभी इसे सहन किया जाएगा। इसीलिए पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व नेशनल कोआर्डिनेटर जयप्रकाश सिंह को पहले सभी पार्टी पदों से हटाया गया और अब बसपा से भी निकाल दिया गया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को व्यक्तिगत तौर पर आक्षेप करते हुए उन्हें ‘गब्बर सिंह भी कहा था। पार्टी सुप्रीमो ने कहा कि बसपा को सत्ताधारी पार्टी भाजपा कतई नहीं बनने देना है, जो सत्ता के लालच व अहंकार में आकर मर्यादाओं की हर सीमा को लांघने में लगी हुई है। हालांकि जयप्रकाश को बाहर का रास्ता दिखाने की कार्रवाई तब की गई, जब कांग्रेस ने इसकी आलोचना की।

क्या है पूरा मामला-
मायावती ने हाल ही में जयप्रकाश सिंह को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ दिए बयान के चलते उन्हें पार्टी के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर पद से हटा दिया था। जयप्रकाश सिंह ने बयान दिया था कि राहुल गांधी कभी भी देश के प्रधानमंत्री नहीं बन सकते हैं क्योंकि उनकी मां विदेश मूल की हैं। जिसके बाद मायावती ने कहा था, ‘मुझे बीएसपी के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर जयप्रकाश सिंह के भाषण के बारे में पता चला है जो बीएसपी की विचारधारा के खिलाफ है। साथ ही, उन्होंने विरोधी पार्टी नेतृत्व के खिलाफ व्यक्तिगत टिप्पणी की है। क्योंकि यह उनकी व्यक्तिगत राय है, उन्हें पार्टी के पद से फौरन प्रभाव से हटाया जा रहा है।’

Back to top button
E-Paper