राफेल पर बीजेपी ने निकला नया कनेक्शन, कहा-इसलिए रद्द हुआ करार

Image result for राफेल

नई दिल्ली: राफेल पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच जंग जारी है। कांग्रेस का कहना है कि इस डील के जरिए केंद्र सरकार ने अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाया। लेकिन केंद्र सरकार का कहना है कि राफेल डील पर कांग्रेस राजनीति के जरिए देश में न केवल भ्रम फैला रही है बल्कि एक साजिश के तहत डील को कैंसिल कराना चाहती है। इस बीच राजस्थान सरकार में कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा के जरिए कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार चाहती थी कि ये करार वाड्रा के जरिए हो।

शेखावत ने कहा 

वाड्रा की कंपनी को बिचौलिया नहीं बनाया गया तो उसके लिए वायुसेना और देश की रक्षा के साथ षड़यंत्र किया गया।अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी इस डील को महज इसलिए रद्द कराना चाहते हैं ताकि वाड्रा के दोस्त संजय भंडारी को फायदा पहुंचाया जा सके। राहुल गांधी को ये बताना चाहिए कि क्या हथियारों के दलाल द्वारा देश की सुरक्षा के साथ समझौता करना चाहिए। शेखावत ने कहा कि रॉबर्ड वाड्रा और संजय भंडारी को दुबई में रक्षा प्रदर्शनी में एक साथ देखा गया था। यही नहीं राहुल गांधी और फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बीच साठगांठ है।

गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा

राहुल गांधी द्वारा जेपीसी से जांच कराए जाने के पीछे खास वजह है। वो चाहते हैं कि सुरक्षा से जुड़े गोपनीय तथ्य उजागिर हो जाएं। इन सबके बीच रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस मुद्दे पर दुष्प्रचार किया जा रहा है। इस मुद्दे पर कांग्रेस वैचारिक लड़ाई की बात तो करती है। लेकिन सबको पता है कि उनके नेताओं के पास विचारशून्यता है। वो देशभर में कांग्रेस की इस मुहिम के खिलाफ खुद निकलकर जवाब देंगी।

Back to top button
E-Paper