नेपालगंज अस्पताल को स्वास्थ्य मंत्रालय ने भेजे दो हजार टेस्ट किट

नबी अहमद

रूपईडीहा/बहराइच। नेपाल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने पड़ोसी नेपाली शहर नेपालगंज स्थित भेरी अंचल अस्पताल को दो हजार टेस्ट किट उपलब्ध कराये है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने अस्पताल को उपलब्ध कराये गये टेस्ट किट के साथ मंत्रालय ने आरएनए एक्सटैक्शन भी प्रदान किए है। नेपाली सेना के जवानों ने भेरी अंचल अस्पताल नेपालगंज के प्रमुख डा. प्रकाश थापा को स्वास्थ्य मंत्रालय से उपलब्ध करायी गयी टेस्ट किट हस्तांतरण की है। ये टेस्ट किट नेपाली सेना की चौथी वाहिनी के सहायक सेनानायक सुरेश बानिया ने अस्पताल को प्रदान करते हुए बताया कि नेपालगंज मे कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

इसीलिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये टेस्ट किट प्रदान किए है। उन्होने यह भी बताया कि प्रादेशिक प्रयोगशाला भैरहवा को एक हजार, प्रादेशिक अस्पताल सुर्खेत को सात सौ व कर्णाली स्वास्थ्य विज्ञान प्रतिष्ठान को तीन सौ किट प्रदान किए गए है। इसी प्रकार धनगढ़ी प्रयोगशाला को डेढ़ हजार किट दिए गए है। उन्होने कहा कि जिन क्षेत्रों मे कोरोना पाजेटिव केस बढ़ रहे है उन क्षेत्रों को लक्षित कर नेपाल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह किट दिए है। चितवन, भैरहवा, सुर्खेत व धनगढ़ी की प्रयोगशाला मे टेस्ट किट न होने के कारण परीक्षण रोक दिया गया था।

कस्बे मे खड़े है लखनऊ से इलाज कराकर लौटे मरीज

रूपईडीहा l दिल्ली व लखनऊ से इलाज कराकर लौटे दो नेपाली मरीज व उनके परिजन शुक्रवार की सुबह से थाने के सामने खड़े है। उन्हे नेपाल जाने की इजाजत एसएसबी नही दे रही है। किडनी मरीज माइली तामांग काठमांडू की रहने वाली है। वह इलाज के लिए परिजनों के साथ दिल्ली गयी थी। इलाज कराकर विशाल शर्मा व सुख बहादुर के साथ वापस लौटी है। इसी प्रकार सीबी अस्पताल लखनऊ से 55 दिनों चेस्ट सर्जरी कराकर सीता खत्री वापस लौटी है। रीता गुप्ता व रवि गुप्ता इसके साथ इलाज करा रहे थे। इन लोगों ने बताया कि कस्बे की एसएसबी बीओपी के इंचार्ज ने कहा कि नेपाल से अज्ञा मिलने के बाद ही हम लोग आप को नेपाल जाने देगे।

Back to top button
E-Paper