Mitron ऐप Google Play से हटाया गया, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

 नई दिल्ली
टिकटॉक (TikTok) को टक्कर देने वाला ऐप मित्रों (Mitron) अब गूगल प्ले स्टोर से गायब है। यह साफ नहीं हो पाया है कि ऐप को प्ले स्टोर से गूगल ने हटाया है या खुद ऐप डिवेलपर्स ने इसे प्ले स्टोर से अनपब्लिश किया है। अगर आपके फोन में यह ऐप मौजूद है तो इसे तुरंत डिलीट कर दें क्योंकि अब यह गूगल द्वारा वैरिफाइड ऐंड्रॉयड ऐप नहीं हैं। इसके अलावा ऐप स्टोर पर इस ऐप के कई फेक वर्जन उपलब्ध हैं जिन्हें डाउनलोड करने से आपको बचना चाहिए।

महीने भर में ही हिट हुआ मित्रों ऐप
यह ऐप टिकटॉक के देसी वर्जन के तौर पर लॉन्च किया था। इसे लोगों ने हाथों हाथ लिया। आलम यह रहा कि एक महीने के अंदर ही इस ऐप के डाउनलोड्स की संख्या 50 लाख के पार पहुंच गई। अब यह ऐप प्ले स्टोर पर नहीं है। यह भी साफ नहीं हो सका है किस वजह से और किसके द्वारा यह ऐप प्ले स्टोर से हटाया गया है। फिलहाल इस ऐप को वैरिफाइड न होने के कारण डिलीट कर देना चाहिए।

मित्रों का पाकिस्तानी कनेक्शन भी आया सामने
हाल ही में ऐसी खबरें आई थीं कि यह ऐप पाकिस्तानी कंपनी Qboxus द्वारा बनाए गए TicTic ऐप का रीपैकेज्ड वर्जन है। इरफान शेख Qboxus के सीईओ और फाउंडर हैं। इस कंपनी ने ही टिकटिक ऐप बनाया है। इरफान ने हमारी सहयोगी वेबसाइटट टाइम्स ऑफ इंडिया-गैजेट्स नाउ को बताया कि उन्होंने मित्रों ऐप के डिवेलपर को टिकटिक का सोर्स कोड 34 डॉलर (करीब 2,500 रुपये) में बेच दिया।

शिवांक अग्रवाल को सोर्स कोड बेचने का दावा
Qboxus की डिवेलपर्स टीम के एक सदस्य ने टाइम्स ऑफ इंडिया- गैजेट्स नाउ से बातचीत के दौरान बताया है कि भारत में यह टिकटिक ऐप की कॉपी की पर्चेंज शिवांक अग्रवाल नाम से की गई है। इस ऐप रिब्रैंडेड करके मित्रों के नाम से पेश कर दिया गया है।

Back to top button
E-Paper