मां गंगा समस्त पापों का नाश करती हैः महाराज


गाजीपुर जनपद के करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र के गोड़उर में छह दिवसीय लक्ष्मीनारायण महायज्ञ की शुरुआत रविवार को सुबह कलश यात्रा से की गई। कलश यात्रा से पूर्व यज्ञाचार्य त्रिदंडी स्वामीजी महाराज ने मंत्रोचार द्वारा पूजन के उपरांत कलश स्थापना की। उसके बाद बैंड बाजे के साथ त्रिदंडी स्वामी दिव्य रथ पर बैठकर कलश यात्रा पर निकले उनके पीछे सैकडों की संख्या में विभिन्न गाड़ियों पर कुंआरी कन्याओं और महिलाओं का काफिला सियाड़ी एकौना नरायनपुर होते हुए उजियार स्थित गंगा घाट पहुंचा।


जहां गंगा स्नान. मंत्रोचार और कलश पूजन के बाद कुंआरी कन्याओं और महिलाओं ने अपने अपने कलश में जल भरने का कार्य सम्पन किया।उसके पश्चात सभी कलश यात्री यज्ञ स्थल पर पहुंचे। यज्ञाचार्य त्रिदंडी स्वामीजी महाराज ने कहा कि मां गंगा मानव के समस्त पापों का नाश करती है। उनके तट की धूलि मात्र से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है। मां गंगा में सभी देवताओं का वास होता है। उन्होंने बताया कि सोमवार को अरणि मंथन से अग्नि प्रज्ज्वलित कर यज्ञ की शुरुआत की जाएगी। उसके पश्चात प्रतिदिन शाम को प्रवचन और रात में रासलीला का आयोजन किया जाएगा। कलश यात्रा में कृष्णदेव राय, धनंजय राय, अवनीश राय, श्रीनिवास राय, दिनेश राय, अंशु राय, विश्वनाथ दास, कुंदन राय, लल्लन पांडेय, चुन्नू राय, अशोक राय, अमरनाथ राय, भीम समेत ढेर सारे लोग मौजूद रहे।

Back to top button
E-Paper