यूपी में मौत का तांडव : पुजारी समेत तीन लोगों को उतारा मौत के घाट….

अलीगढ़ । हरदुआगंज थाना क्षेत्र के गांव सफेदपुरा के निकट मंदिर के पुजारी समेत तीन लोगों की गेाली मार कर हत्या कर देने से पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया। वहीं इलाके में सनसनी फैलने के साथ ग्रामीणों में आक्रोश पनप गया। हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। मौके पर इलाका पुलिस, फाॅरेंसिक टीम व डाॅग स्क्वाइड के साथ डीआईजी, एसएसपी, एसपी ग्रामीण व कई सीओ पहुॅच गये। पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया और परिजनों को सौंप दिया।

गांव सफेदपुरा के निकट कलाई बंम्बा पर दुरैनी माता का मंदिर है और इस मंदिर पर करीब पन्द्रह साल से बाबा राम स्वरूप दास (50) पुत्र त्रिलोक सिंह पुजारी था, यह मंदिर पर ही रहता था जबकि गांव सफेदपुरा का निवासी था, मंदिर से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर योगेन्द्र सिंह (40) पुत्र राजपाल लोधे राजपूत निवासी सफेदपुरा के खेत है। जिनमें मक्का की फसल है जंगली जानवरों से फसल बचाने के लिए योगेन्द्र और उसकी पत्नी विमलेश (36) रात्रि में फसल की रखवाली कर रहे थे।

शनिवार की प्रातः

जब ग्रामीण धूमते हुए मंदिर पर आये तो कमरे का गेट खुला देखा। पास जाने पर बाबा रामस्वरूप दास का रक्त रंजित शव पड़ा देखा तो दंग रह गये और इसकी सूचना ग्रामीणों के साथ पुलिस को दी गई। सैंकड़ो की संख्या में ग्रामीण वहाॅ एकत्रित हो गये तभी इलाका पुलिस के साथ सीओ और एसपी ग्रामीण मणीलाल पाटीदार मौके पर पहुॅचे। पुलिस व अधिकारी घटना स्थल का निरीक्षण कर लेागों से पूछताछ कर रहे थे। तभी ग्रामीणों ने डेढ़ किलो मीटर दूर धान व मक्का के खेत में अलग अलग स्थानों पर योगेन्द्र व उसकी पत्नी विमलेश की लाश पड़ी होने की पुलिस को सूचना दी। पुजारी व दम्पत्ति की गोली मारकर हत्या की गई थी। तीनों ही लोधे राजपूत थे।

थाना क्षेत्र में तीन लोगों की हत्या की सूचना अधिकारियों को दी गई तो पुलिस महकमे में हड़म्प मच गया। आनन फानन में डीआईजी प्रीतेन्द्र सिंह, एसएसपी अजय कुमार साहनी व कई सीओ फाॅरेंसिक टीम और डाॅग स्क्वाइड के साथ मौके पर पहुॅचे, घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण कर ग्रामीणों से जानकारी की।

वहाॅ आस पास के गांवों के हजारों लोग पहुॅच गये। तीन हत्याओं को लेकर उनमें भारी आक्रोश पनप गया। इन्हंे अधिकारियों ने समझाबुझाकरी शांत किया। चन्द्रपाल निवासी सफेदपुरा का कहना है कि महिला के पकड़े अस्त व्यस्त थे जिसमें उसके साथ दुष्कर्म किये जाने की आशंका है। बदमाशों को पुजारी की हत्या करके जाते मृतक दम्पत्ति को देख लिया होगा इसी कारण उनकी हत्या किये जाने की सम्भावना है।

एसएसपी अजय कुमार साहनी ने बताया कि मंदिर के पुजारी की हत्या करने वालों को योगेन्द्र और उसकी पत्नी ने दखकर पहचान लिया हेागा, तभी उन दोनों की भी हत्या की गई है। फिलहाल हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस ने इसे गम्भीरता से लेते हुए जांच शुरू कर दी है। उधर पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया और शवों केा परिजनों को सौंप दिया।

 

Back to top button
E-Paper