नमस्ते ट्रंप : ‘इस्लामिक आतंकवाद और पाकिस्तान को लेकर जानिए अमेरिका के राष्ट्रपति ने क्या कहा?

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को यहां मोटेरा स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम नमस्ते ट्रंप में कहा कि वह भारत में हुए उनके यादगार आतिथ्य सत्कार को याद रखेंगे। उन्होंने कहा कि अमेरिका भारत का सम्मान करता है और भारत से प्यार करता है। ट्रंप ने खचाखच भरे स्टेडियम में श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा, मोदी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) बहुत कठोर(टफ) नेता हैं।

अपने संबोधन में ट्रंप ने भारत को आर्थिक महाशक्ति बताया। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा, हमें भारत पर बहुत गर्व है, भारत एक आर्थिक महाशक्ति है। भारत की क्षमता अविश्वसनीय है। भारत के दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत की एकता की प्रशंसा की। उन्होंने यहां मोटेरा स्टेडियम में आयोजित नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में कहा कि भारत की एकता विश्व के लिए प्रेरणादायी है। इसके साथ ही उन्होंने स्वामी विवेकानंद के कथन को याद करते हुए कहा कि भारत और अमेरिका स्वाभाविक सहयोगी हैं। ट्रंप ने अपने भाषण में भारत के चंद्रयान मिशन की प्रशंसा की।

 

पाकिस्तान पर निशाना साधा

प्रेसीडेंट ट्रंप यहीं नहीं रूके उन्होंने भारत के पड़ोसी व दुश्मन देश पाकिस्तान को लेकर भी निशाना साधा। उन्होंने इस्लामिक आतंकवाद और पाकिस्तान का मुद्दा उठाया।

प्रेसिडेंट ट्रंप ने अपने भाषण में कहा- ”हमारे देश इस्लामिक आतंकवाद का शिकार रहे हैं, जिसके खिलाफ हमने लड़ाई लड़ी है। अमेरिका ने अपने एक्शन में आईएसआईएस को खत्म किया और अल बगदादी को मौत की नींद सुला दिया।

पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए ट्रंप ने कहा कि हमनें पाकिस्तान पर आतंकवाद से लड़ाई लड़ने के लिए दबाव बनाया। पाकिस्तान को इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ एक्शन लेना ही होगा। हर देश को अपनी सुरक्षा करने का अधिकार है। अमेरिका और भारत भी इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ते रहेंगे। हम दोनों देश एक साथ इसे जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

ट्रंप ने यह भी कहा कि हमने सत्ता संभालने के बाद पाकिस्तान की सीमा से प्रसारित होने वाले आतंक को रोकने के लिए पाकिस्तान पर शिकंजा कसा, जिसका परिणाम सकारात्मक रहा है।

Back to top button
E-Paper