मुस्लिम लड़की के प्यार हिंदू युवक को पड़ा महंगा, मिली ये दिल दहला देने वाली सजा..

पटना; बिहार के नवादा में रजौली थाना क्षेत्र के जोगियामारन गांव में एक मुस्लिम समुदाय की युवती ने जाति और धर्म के बंधन को तोड़ कर हिंदू युवक से प्यार कर बैठी। इसकी सजा उसे तालिबानी कानून के तहत भुगतनी पड़ी। प्रेमी के साथ भागने पर लड़की को करीब पांच घंटे तक पेड़ से बांधा गया। इस दौरान उसकी इतनी पिटाई की गई कि वह बेहोश हो गई। पंचायत के फरमान के बाद लड़की की मां और भाई ने इस घटना को अंजाम दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार

घरवालों के राजी नहीं होने पर लड़की अपने प्रेमी के साथ 30 सितंबर को फरार हो गई। वह पास के ही गांव में प्रेमी के साथ रहने लगी। इस बीच उसके घरवालों को इसकी जानकारी हुई तो वे गुरुवार को वहां पहुंचे और उसे पकड़कर गांव लाये।

घटना की जानकारी पर गांव में पंचायत बुलाई गई। पंचायत के तुगलकी फरमान के बाद उसे पेड़ से बांधकर पीटा गया। लड़की के मुताबिक, वह उस लड़के से प्यार करती थी, लेकिन उसके परिवार वाले विवाह के लिए राजी नहीं थे। लिहाजा, वह अपने प्रेमी के साथ भाग गई।

इधर, सूचना पर पहुंची पुलिस ने गांव जाकर लड़की का बयान लिया और परिजनों को चेतावनी देकर उसे सौंप दिया। लडकी के परिजनों ने उसे उठा कर अपने गांव ले आये और उसे मस्जिद के सामने एक शीशम के पेड़ से कड़कड़ाती धूप में बांध कर छोड़ दिया। लोग उस पर इस तरह अपना भड़ास निकाल रहे थे जैसे लड़की प्यार नहीं, कोई जघन्य अपराध किया हो।

परिजन से लेकर रिश्तेदार व गांव के कुछ लोगों ने सभी अपनी अपनी तरफ से लड़की पर गुस्सा निकाला। पीड़ित लड़की ने बताया कि मैं उस लड़के से दो वर्षों से प्यार कर रही हूं. मैं उसी से शादी करूंगी, चाहे मुझे कोई भी सजा मिले। मैं कोई जाति और धर्म नहीं मानती हूं। लड़की ने बताया कि उसकी उम्र 19 वर्ष के लगभग है और वह बालिग है।

वह खुद यह निर्णय ले सकती है कि उसे किस से शादी करनी है और किससे नहीं। वहीं, लड़की के पिता ने कहा कि मेरी बेटी ने अपराध किया है। इसीलिए मैं उसे बांधा हूं और सजा भी दूंगा। लड़की के पिता ने यह भी कहा कि एक वर्ष पहले पंचायत भी बुलाई गई थी। इसमें लड़की को समझाया भी गया था कि तुम दूसरे धर्म के लड़के से प्यार करना छोड दो, लेकिन लड़की न तो मेरी सुनी और न ही पंचायत की बात मानी। इसीलिए इसके साथ यह सलूक किया गया है।

बाद में मीडियाकर्मियों के हस्तक्षेप के बाद लड़की को बंधन से मुक्त किया गया। फिर भी परिजनों ने लड़की का हाथ बांध कर ही रखा। इस संबंध में थानाध्यक्ष रवि रंजन कुमार से पूछे जाने पर उन्होंने मामले की जानकारी होने से साफ इन्कार कर दिया। वहीं, एसपी एस हरि प्रसाथ ने बताया कि मामले की जानकारी मिली है। घटना की जांच कराई जाएगी, जो भी इसमें दोषी होगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

हालांकि रजौली डीएसपी संजय कुमार ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है। रजौली थाना प्रभारी को जोगियामारन गांव में घटनास्थल पर छानबीन करने का निर्देश दिया गया है। जांच के बाद मामले की सत्यता की पुष्टि होने के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जायेगी।

Back to top button
E-Paper