शर्मनाक : हिन्दू धर्म की आड़ में यूपी पुलिस का “अधार्मिक कर्मकांड”, whatsapp पर वायरल हुआ वीडियो

मेरठ, : नर्सिंग की छात्रा की वीडियो को पुलिसकर्मियों ने साजिश करके वायरल की थी। होमगार्ड और सिपाही ने अपने परिचितों को व्हाट्सएप पर ये वीडियो भेजी और इसके बाद कमेंट भी किया गया था। इसके बाद ही ये वीडियो वायरल हो गई और पूरा मामला खुल गया। पुलिस जांच में भी लगभग यही बात सामने आ रही है।

मेडिकल क्षेत्र में नर्सिंग छात्रा से गाली गलौज, अभद्रता और मारपीट के मामले में दोषी पुलिसकर्मियों ने साजिश के तहत इस वीडियो को वायरल किया था। खुलासा हुआ कि होमगार्ड सहेंसरपाल और सिपाही नीटू ने इस वीडियो को अपने कुछ परिचित और रिश्तेदारों को दिया। इस वीडियो को लेकर टिप्पणी भी की गई। इतना ही नहीं, ये भी कहा गया कि इस लड़की को सबक सिखा दिया है।

अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया। ये वीडियो इसके बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। यहीं से पूरा मामला पुलिस अधिकारियों और मीडिया की जानकारी में आया। वीडियो वायरल हुई तो युवती की पहचान भी लोगों के सामने आ गई। इसी बात को लेकर छात्रा मांग कर रही है कि इस वीडियो को हटवाया जाए।

दूसरी ओर ये भी खुलासा हुआ है

कि जो होमगार्ड सहेंसरपाल पुलिस जीप में वीडियो बनाते हुए देखा जा रहा है, वो अपराधिक प्रवृत्ति का है। गांव में उस पर पहले भी कई घटनाओं को लेकर आरोप लगे हैं। गांव के ही कुछ लोगों ने बताया कि सहेंसरपाल पर गांव की एक अनुसूचित जाति की युवती से छेड़छाड़ का आरोप लगा था। इसके अलावा अपने ही भाई पर सहेंसरपाल ने हमला भी कराया था।

गोली चलाई गई थी और इस हमले में भाई बच गया था। बाद में दोनों मामलों में गांव की पंचायत में फैसला कराया गया था। एक अन्य मामला ससुराल पक्ष और सहेंसरपाल के बीच चला था। गंभीर आरोप लगे थे, लेकिन बाद में उस प्रकरण में भी समझौता हो गया। ऐसे में साफ है कि सहेंसरपाल पहले से ही अपराधिक प्रवृत्ति का है और कई घटनाएं कर चुका है।

Back to top button
E-Paper