चुनावी मोड में आयी सपा खोलेगी भाजपा के खिलाफ मोर्चा

योगेश श्रीवास्तव

लखनऊ। भाजपा को देख समाजवादी पार्टी भी चुनावी मोड में आने की तैयारी कर रही है। भाजपा को यूपी में शिकस्त देने के लिए सपा भी युवाओं को आकर्षित करने के लिए समाजवादी डिजिटेल फोर्स का गठन करने जा रही है। यह फोर्स सपा के विकास कार्यो का जनता के बीच बखान करने के साथ ही भाजपा के वायदों, योजनाओं एवं विकास कार्यो की असिलयत उजागर करेगी। इसके अलावा सपा फतह के लिए बसपा, कांग्रेस एवं रालोद सहित कई दलों के साथ गठबंधन भी करने जा रही है। इसके लिए वह हर कुर्वानी भी देने को तैयार है।

यूपी में करीब 65 प्रतिशत युवा वोटर है जिनकी उम्र 18 से 35 साल के बीच है। यह वर्ग जाति धर्म मजहब से दूर हटकर अपने कैरियर की संभावना को भांप कर मतदान करता है। इसे आकर्षित करने के लिए भाजपा का एक बड़ा आईटी सेल पहले से ही कार्य कर रहा है। इसे देख सपा भी इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा को शिकस्त देने के लिए समाजवादी डिजेटेल फोर्स का गठन करने जा रही है। इसमें भी प्रशिक्षित हजारों कार्यकर्ताओं को रोजगार का मौैका मिलेगा। यह फोर्स सोशल मीडिया के जरिये लोगों से सपा कार्यकाल के विकास कार्यो की चर्चा करेगा। इसके साथ ही केन्द्र एवं प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं का कच्चा चिठ्ठïा भी जनता के समक्ष पेश करेगा।

Image result for समाजवादी पार्टी भाजपा

एसडीएफ 2014 एवं 2017 के चुनावों में भाजपा द्वारा किये गए वायदों की भी जनता के बीच पड़ताल करने का भी काम करेगा। मसलन कालेधन की वापसी, नोटबंदी से लाभ, हर साल दो करोड युवाओं को नौकरी, राम मंदिर निर्माण, धारा 370 का खात्मा, हर भारतीय के खातों में 15-15 लाख रुपये, आतंकवाद का सफाया, लोकपाल का गठन, गंगा की सफाई एवं कानून व्यवस्था जैसे कई मुद्दों को उछालने का काम करेगा। इस तरह एसडीएफ युवाओं को अपने पाले में लाने के लिए पूरी तरह से तैयारी कर रहा है।

इसके अलावा सपा मुखिया अखिलेश यादव एक बार फिर 2012 की तरह सायकिल पर सवार होने जा रहे हैं। इससे पहले सपा कार्यकर्ता बलिया से लखनऊ तक लोकतंत्र बचाओ, समग्र क्रांति सायकिल यात्रा निकालने जा रहे हैं। यह यात्रा 26 जुलाई को बलिया से आरंभ होकर 5 अगस्त को लखनऊ पहुंचेगी। यहां पर जनेश्वर मिश्र पार्क में यात्रा का विधिवत समापन किया जायेगा।

यह यात्रा पूर्वाचंल एक्सप्रेस वे के पुराने रास्ते पर बलिया से आरंभ होकर गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़,वाराणसी, फैजाबाद, बाराबंकी होते हुए लखनऊ आयेगी। इस दौरान जगह जगह रुककर पूर्वाचंल एक्क्सप्रेस की सच्चाई का बंया किया जायेगा। इस दौरान इस एक्सप्रेस वे बलिया को अलग करने एवं पूर्व में इसका उद्घाटन हो जाने का भी जिक्र किया जायेगा। वहीं सपा मुखिया अखिलेश यादव चुनाव का ऐलान होने के बाद स्वयं सायकिल यात्रा पर निकलने का भी ऐेलान कर चुके हैं।

इसके साथ ही सपा भाजपा को परास्त करने के लिए यूपी में एक मजबूत विपक्षी एकता की मिशाल पेश करना चाहती है। इसके लिए वह बसपा, कांग्रेस एवं रालोद को एक मंच पर लाने की कवायद कर रही है। इस गठबंधन को खड़ा करने के लिए सपा कुर्वानी देने को भी तैयार है। इस तरह सपा मिशन 2019 की तैयारी कर रही है। इसका कितना असर जनता के बीच होगा यह तो भविष्य भी बतायेगा। बहरहाल सपा यूपी में भाजपा का मुख्य प्रतिद्वंदी बनने के लिए हर स्तर पर कार्य कर रही है।

Back to top button
E-Paper