ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस कार्यशाला का आयोजन 

बहराइच l उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के इंटेंसिव विकासखंड मिहींपुरवा में सुरेन्द्र कुमार गुप्त, उपायुक्त, स्वतः रोजगार के निदेशन में समूह की महिलाओं, संकुल संघ के पदाधिकारी, समूह सखी, आशा कार्यकत्री एवं आंगनवाडी के लोगों को ग्राम स्वस्थ्य पोषण दिवस के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी विकासखंड मुख्यालय सभागार में शुक्रवार को दी गई।
    मौके पर खंड विकास अधिकारी चंद्रशेखर प्रसाद ने कहा कि किशोरावस्था बचपन और व्यस्क के बीच की संवेदनशील अवस्था है, जिसमें कई शारीरिक, मानसिक और मनोवैज्ञानिक परिवर्तन से किशोरियों को गुजरना होता है। किशोरियों का स्वस्थ व पोषित होना अत्यंत आवश्यक है। एक स्वस्थ महिला ही स्वस्थ बच्चे को जन्म देती है। वही सीडीपीओ, दिलीप कुमार सिंह ने कहा कि किशोरावस्था में बढ़ते शरीर के अधिक पोषण की जरूरत होती है।
      ब्लॉक एंकर पर्सन नंदकिशोर साह ने  कहा कि  वृद्धि और विकास में सहायक भोजन शरीर की रक्षा भी करती है। उन्होंने गर्भवती, किशोरी और बच्चों को आंगनवाड़ी कार्यकत्री के पास पंजीकरण  कराने की अपील की।  एक वर्ष तक के शिशु को सभी टीके लगवाने की बात कही।
 एडीओ आईएसबी लक्ष्मण प्रसाद गौड़ ने बताया कि आज मुख्य रूप से ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस, प्रसव पूर्व जांच, वृद्धि की निगरानी, अति कुपोषित बच्चों का चिन्ह अंकन, स्वास्थ्य एवं पोषण की जानकारी, किशोरी बालिकाओं को स्वच्छता के बारे में बताया गया तथा गर्भवती एवं धात्री महिलाओं के स्वास्थ्य संबंधित जानकारी, स्तनपान, बच्चों को दूध पिलाने के सही तरीका, कुपोषण से बचने की जानकारी दी गई।
मौके पर मधुरानी, पूनम रावत, ललिता वर्मा, पीआरपी मनीष चंचल, चंदन कुमार, शिव बचन कुमार, यंग प्रोफेशनल, शैलेश कुमार, राजकुमार सिंह, संकुल संघ के रीता देवी लक्ष्मीना, आशा देवी, जुलेखा बानो मौजूद रही।
    एकता महिला ग्राम संगठन, बोझीया के आशा देवी ने स्वयं द्वारा उत्पादित मक्का का दलिया और आम व कटहल का अचार दिखाकर महिलाओं को प्रेरित किया।
Back to top button
E-Paper