सफाई कर्मी नियुक्त न होने के कारण पंचायत भवन हुआ दुर्दशा का शिकार

ग्रामीणो ने लगाया पंचायत भवन में साफ सफाई न होने व कोई भी बैठक आयोजित न किये जाने का आरोप।

 
मोतीपुर/बहराइच l विकासखंड मिहींपुरवा के ग्राम सभा परवानी गौढ़ी में कोई भी सफाई कर्मी नियुक्त न होने के कारण इन दिनों गांव की साफ सफाई व स्वच्छता कराना प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है। क्षेत्रफल व आबादी की दृष्टि से काफी बड़ी ग्राम सभा परवानी गौढ़ी में एंचुआ व परवानी गौढ़ी नाम से दो राजस्व गांव घोषित किये गये हैं इसके बाद भी यहां एक भी सफाई कर्मी नियुक्त ना होना अपने आप में गम्भीर विषय है।


रविवार को परवानीगौढ़ी के ग्रामीणों ने पंचायत भवन पर एकत्र होकर होकर प्रशासन से सफाई कर्मी नियुक्त करने की मांग की जिससे गांव में समुचित रुप से साफ सफाई की जा सके।
ग्रामीणों का आरोप था कि इतनी बड़ी ग्राम सभा होने के बावजूद भी यहां  सफाई कर्मी न होने के कारण गांव की नाली गांव की नाली सड़क, प्राथमिक विद्यालय व पंचायत भवन की साफ सफाई नहीं हो पा रही है। गांव में कई जगह काफी गंदगी जमा हो गई है जिससे आने वाले बरसात के दिनो में संक्रामक रोग फैलने का खतरा बढ़ सकता है। यहां निर्मित पंचायत भवन में महीनो से कोई बैठक आयोजित नहीं की गयी है।


ग्राम विकास अधिकारी परवानी गौढ़ी दुर्रे हसन ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते सोसल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा था जिसके चलते लाकडाउन के दौरान पिछले तीन माह से पंचायत भवन पर कोई बैठक आयोजित नहीं की गयी। उन्होने कहा कि दो दो राजस्व गांव घोषित होने के बावजूद यहां सफाई कर्मी नियुक्त ना होना अत्यंत चिंता का विषय है इस बाबत उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया है। गांव में गंदगी न फैलने पाये इस लिये ग्राम प्रधान व सचिव की अोर से दिहाड़ी पर श्रमिक रख यथा सम्भव सफाई का प्रयास किया जाता है।

कोविड-19 संक्रमण के चलते विगत तीन माह से पंचायत भवन में कोई बैठक आयोजित नही की जा सकी है इसके अलावा परवानीगौढ़ी बड़ी ग्राम सभा होने तथा यहां दो राजस्व ग्राम घोषित होने के बाद भी यहां कोई सफाईकर्मी नियुक्त नही है। दिहाड़ी पर श्रमिक रख साफ सफाई करवाई जाती है।
                   दुर्रेहसन
         ग्राम विकास अधिकारी

Back to top button
E-Paper