राहुल की ये फोटो हुई वायरल, शाह ने पूछा- किस बात की टेंशन है जनाब..

rahul gandhi during budget session

लोकसभा चुनाव-2019 में भाजपा को 2014 से ज्यादा बहुमत से सत्ता में लाने के शंखनाद के साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने देहरादून में भाजपा के त्रिशक्ति सम्मेलन में कांग्रेस पर निशाना साधा और कार्यकर्ताओं में जीत का जोश भरा।  उन्होंने कहा कि 55 साल और चार पीढ़ी की सत्ता में कांग्रेस ने देश को सिर्फ लूटा, वहीं पांच साल में भाजपा की मोदी सरकार ने हर क्षेत्र में देश को विकास के नए आयाम दिए। उत्तराखंड को देवभूमि और वीरभूमि का दर्जा देते हुए उन्होंने आम लोगों से लेकर सैन्य परिवारों तक में जोश का संचार किया। उन्होंने कहा कि भाजपा ही ऐसी पार्टी है, जहां पोस्टर लगाने वाला कार्यकर्ता पीएम और पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बन सकता है।

बताते चले  बीते दिनों संसद में पेश हुआ बजट अब तक कई कारणों से चर्चा में है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा एक से बढ़कर एक बड़ी घाषणाएं करने के बाद हर ओर इसकी चर्चा हो रही है। बजट पेश होने के दौरान लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा कई विपक्षी नेता भी मौजूद थे। इस दौरान की राहुल गांधी की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें वे गालों पर हाथ रखे बेहद चिंतित मुद्रा में दिखाए दे रहे हैं।

अब इस तस्वीर पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने चुटकी ली है

उन्होंने राहुल गांधी से पूछा है कि इतने गंभीर क्यों हैं और किस बात की चिंता है। बता दें कि शनिवार को अमित शाह 15,000 बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विपक्षी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस अनावश्यक रूप से सरकार के द्वारा 42 एकड़ भूमि मालिकों को उनकी जमीन दान करने के फैसले पर हल्ला बोल रही है। उन्होंने कहा कि राहुल बाबा अपना स्टैंड क्लीयर करो, आप राम मंदिर चाहते हैं या नहीं।

हमले के साथ ही उन्होंने हिल स्टेशन में चुनाव प्रचार को हवा दे दी। यहीं पर शाह ने बजट सत्र के दौरान राहुल गांधी की मुद्रा पर भी चुटकी ले ली। कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष जो अक्सर आक्रामक मुद्रा में नजर आते हैं बजट सत्र में पीयूष गोयल के भाषण के दौरान इतने गंभीर क्यों हो गए। बता दें कि राहुल गांधी की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है।

उन्होंने ये भी कहा कि मुझे समझ नहीं आय़ा कि आप इतने चिंतित क्यों नजर आए, आप मुस्कुरा क्यों नहीं रहे हैं। किसानों के लिए हुई घोषणा से आप खुश क्यों नहीं दिखे। उन्होंने ये भी आश्वस्त किया कि आने वाले लोकसभा चुनाव में हिल स्टेट की सभी सीटें बीजेपी के खाते में आएंगी। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी सभी हिल राज्यों में बीजेपी को जीत हासिल हुई थी।

सरकार के द्वारा किसान कर्ज माफी पर कोई घोषणा नहीं किए जाने के सवाल पर शाह ने कहा कि किसानों के खाते में कैश ट्रांसफर की योजना उन्हें डायरेक्ट लाभ पहुंचाएगी। 2009 में यूपीए सरकार ने कर्ज माफी की घोषणा कर 3 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचाया था। जबकि हमारी सरकार के द्वारा घोषित पेंशन योजना 12 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचाएगी।

Back to top button
E-Paper