पीलीभीत : अधिकारियों की मिली भगत से महिला कर्मचारी का घर बैठे निकल रहा वेतन

दैनिक भास्कर ब्यूरो

पीलीभीत। अधिकारियों की मिलीभगत से चतुर्थ श्रेणी महिला कर्मचारी का घर बैठे वेतन निकालने का मामला सामने आया है, बताया जा रहा हैं कि 15 से 20000 रुपए का हर महीने अधिकारी बंदरबांट कर लेते है। योगी सरकार के सख्त रवैया के बाद भी अधिकारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे है, विद्युत डिवीजन में तैनात चतुर्थ कर्मचारी घर बैठे अधिकारियों की मिलीभगत से वेतन पा रही हैं।

पूरनपुर विद्युत विभाग कार्यालय में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी महिला रमन लता है। कार्यालय ना आने के बाद भी मोटी रकम निकाली गई हैं। विद्युत विभाग में यह बड़ा खेल उपखंड अधिकारी प्रवीण सिंह कनौजिया के संरक्षण में चल रहा है। कार्यालय में रमन लता जो कि एक महिला चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है और बिना ड्यूटी के ही अधिकारियों की कृपा पात्र बनी हुईं है। करीब 40 से 45 हजार रूपये निकाल कर सरकारी धन का बंटरवारा हो रहा है।

डिविजन पर 15 से 20 हजार रुपए का हो रहा बंदरबांट

इतना ही नहीं बताया जा रहा हैं कि इस काम के लिए अधिकारी 10 से 15 हजार रूपये प्रति माह वसूल भी करते हैं और घर बैठे ही सैलरी खाते में भेजी गई है। उप खंड अधिकारी कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग में देखा जा सकता है कि चतुर्थ श्रेणी महिला रमन लता कभी काम पर नहीं आती। इसमें वेतन बनवाने वाले बाबू भी संलिप्त हैं। अगर गंभीरता से जांच की जाए तो पूरनपुर उपखंड अधिकारी प्रवीण सिंह कनौजिया के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की फाइल खुल सकती है।

बयान- प्रवीण सिंह कनौजिया एसडीओ
महिला रमन लता की 20 मई तक उपस्थिति दर्ज है, 20 मई के बाद अनुपस्थिति चल रही है।

Back to top button