PL फिक्सिंग और अब पोर्नोग्राफी- राज कुंद्रा हमेशा कानून से बचते रहे, लेकिन इस बार नहीं

कहते हैं, जब बुरा समय आता है, तो आप चाहे जितने भी शक्तिशाली और प्रभावशाली क्यों न हो, आप नियति के सामने बिल्कुल अस्सहाय हो जाते हैं। आपका बस नहीं चलता। कुछ ऐसा ही हाल उद्योगपति और फिल्म अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुन्द्रा का है।

शिल्पा शेट्टी के पति राज कुन्द्रा को अश्लील फिल्म बनाने और उसे बेचने के आरोप में हिरासत में लिया गया है और फिलहाल के लिए वह 23 जुलाई तक पुलिस की कस्टडी में रहेंगे। लेकिन जब से शिल्पा शेट्टी के पति  राज कुंद्रा हिरासत में लिए गए हैं, एक के बाद एक उनकी काले करतूतों की पोल भी सामने आती जा रही है। राज को कल यानि 19 जुलाई को पोर्न कंटेंट बनाने और उसे बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

इसी बीच अब यह सामने आ रहा है कि अडल्ट फिल्म्स में काम करने वाली अभिनेत्रियाँ पूनम पांडे, शर्लिन चोपड़ा इत्यादि के साथ भी राज कुंद्रा ने कथित तौर पर धोखाधड़ी की है। पूनम पांडे के अनुसार, राज कुंद्रा की Armsprime Media के साथ एक अनुबंध था। लेकिन अनुबंध खत्म होने के बाद भी उनसे जुड़े कॉन्टेन्ट का राज कुंद्रा की कंपनी ने दुरुपयोग किया है। 

इसके चलते पूनम ने बॉम्बे हाईकोर्ट में राज के विरुद्ध केस भी फ़ाइल किया था। फिलहाल राज के विरुद्ध IPC और IT एक्ट के अलावा ‘महिला यौन शोषण अधिनियम’ के तहत भी मामला दर्ज किया गया है।  अब तक पूरे केस में 11 गिरफ्तारी हुई हैं। लेकिन इस पूरे प्रकरण में न ही शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा के माथे पर कोई शिकन है, और न ही वे किसी प्रकार से चिंतित दिखाई दे रहे हैं।

हो भी क्यों न, वह इससे पहले भी भ्रष्टाचार से लेकर बिटकॉइन घोटाले जैसे कई संगीन आरोपों में नामजद किये जा चुके हैं, पर हर बार वे आश्चर्यजनक रूप से किसी न किसी तरह बच निकले हैं। हम मज़ाक नहीं कर रहे हैं। इससे पहले भी राज कुंद्रा कई मामलों में नामजद हो चुके हैं। लेकिन हर बार वह अपने आप को ‘पाक साफ’ सिद्ध करने में कामयाब रहे हैं।

IPL में शिल्पा शेट्टी के पति पर सट्टेबाजी का आरोप लग चुका है, जिसके चलते उनपर क्रिकेट से जुड़ी किसी भी गतिविधि में हिस्सा लेना पर आजीवन प्रतिबंध भी लगाया गया था। हालांकि राज को कथित तौर पर दिल्ली पुलिस से क्लीन चिट मिली, जिससे उसने इस निर्णय को सुप्रीम कोर्ट में 2018 में चुनौती दी और ये मामला अभी लंबित है। लेकिन मामला यहीं तक सीमित नहीं है।

राज पर दाऊद इब्राहिम के सहयोगी इकबाल मिर्ची के साथ व्यापार करने और काले धंधों में लिप्त रहने का भी आरोप था, जिसके पीछे प्रवर्तन निदेशालय तक को जांच पड़ताल करनी पड़ी थी। जब आपका नाम दाऊद इब्राहिम के एक खास सहयोगी के साथ जुड़ा हो, तो आप निस्संदेह दूध के धुले तो नहीं हुए। इतना ही नहीं, बिटकॉइन घोटाले में भी इन जनाब का नाम सामने आया है, जिसमें करीब 2000 करोड़ का घपला हुआ था।

लेकिन आश्चर्य की बात तो यह है कि इतने सारे गंभीर मामलों में नाम आने के बावजूद राज कुंद्रा ने एक बार भी जेल की हवा भी नहीं खाई। वे तो ऐसे बरी हुए, मानो पूरा प्रशासन उनके मुट्ठी में है। शायद इसीलिए जब पॉर्न मामले में शिल्पा शेट्टी के पति को हिरासत में लिया गया, तो वे उतने ही बेधड़क और बेशर्मी से जांच एजेंसियों के साथ निकल रहे थे, मानो ये तो रोज का काम है।

परंतु इस बार ये रोज का काम नहीं दिखाई पड़ता है। एक तो पॉर्न फिल्म रैकेट से नाम जुड़ना ही कोई गर्व की बात नहीं है। दूसरी बात यह है कि जांच एजेंसियों की माने तो इस बार उनके हाथ कई ऐसे साक्ष्य लगे हैं, जिससे राज कुंद्रा का बच निकलना लगभग असंभव है। मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच के अनुसार राज कुंद्रा इस मामले के प्रमुख साजिशकर्ता हैं, और उसके विरुद्ध पर्याप्त साक्ष्य हैं।

ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा कि शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा तिकड़म भिड़ाने में भले ही विशेषज्ञ हों, परंतु इस बार वे बुरा फंसे हैं।

Back to top button
E-Paper