प्रतापगढ़ : रेल इंजन ने बुलेट को उड़ाया, अनाधिकृत रूप से जाते समय जेल रोड क्रासिंग पर हुई घटना

  • सिग्नल यंत्र को भी नुकसान पहुंचा

प्रतापगढ़। रेलवे लाइन के किनारे गलत तरीके से जा रही बुलेट रेल इंजन से टकरा गई। टक्कर से बुलेट का पिछला क्षतिग्रस्त हो गया। सिग्नल की पाइप की टूट गई। इस हादसे में बुलेट सवार को पैर जख्मी हो गया। वह बुलेट छोड़कर भाग गया। सूचना पर पहुंची आरपीएफ बुलेट उठा लाई। अज्ञात के खिलाफ रेलवे एक्ट की धारा में मुकदमा पंजीकृत किया हैं। सिग्नल, ट्रैफिक और इंजीनियरिंग के कर्मचारी भी पहुंच गये थे। बुलेट वाले की तलाश की जा रही है।


रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चिलबिला साइड से एक लाइट इंजन आ रहा था। रेल गेट बंद था। इसी बीच एक बुलेट वाला गेट के अंदर घुस गया। चैक जाने के लिए रेलवे लाइन और जाली के मध्य वाले सकरे रास्ते से बुलेट निकालने लगा। बुलेट का पायदान सिग्नल बॉक्स की पाइप में फंस गया। बताया जाता है कि बुलेट वाला कुछ कर पाता इसी बीच उसी लाइन पर इंजन आ गया।

बुलेट का पिछला हिस्सा उसकी चपेट में आ गया। बुलेट वाला भाग निकला लेकिन वह भी घायल हो गया है। पुलिस के अनुसार उसके पैर में चोट आई है। बता दें कि गेट बंद होने के बाद लोगों को इतनी जल्दी रहती है कि वे जोखिम भरा कदम उठा लेते हैं। बुलेट वाले ने बाहर जाने के लिए जिस रास्ते को चुना। वह वैध नहीं था। खुद तो घायल हुआ ही। बुलेट भी कबाड़ हो गई। यह पहली घटना नहीं है। कुछ महीने पहले भी अर्चना एक्सप्रेस से एक बाइक टकरा गई थी। एसएसई सिग्नल एसपी पांडेय के अनुसार इस घटना में संकेत सिस्टम में खराबी आ गई थी। जिसको बाद में ठीक कर लिया गया। ट्रेनों का संचालन प्रभावित नहीं हुआ।

Back to top button
E-Paper