पराली जलने की घटना के लिए जिम्मेदार होंगे प्रधान व सचिव

बहराइच। जनपद में फसल अपशिष्ट/पराली जलाये जाने की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाये जाने के उद्देश्य से कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने कहा कि यदि किसी ग्राम पंचायत में पराली जलाने की घटना प्रकाश में आती है तो इसके लिए सम्बन्धित ग्राम प्रधान व सचिव को जिम्मेदार मानते हुए कठोर कार्यवाही की जायेगी। जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि वित्त आयोग के अन्तर्गत ग्राम प्रधानों के माध्यम से ग्राम पंचायतों में पराली एकत्र कराकर गौ आश्रय स्थलों में भिजवाया जाना सुनिश्चित करें। सम्बन्धित अधिकारी को इस कार्य का नियमित पर्यवेक्षण किये जाने के भी निर्देश दिये गये।

जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि सभी ग्राम पंचायतों में पराली न जलाये जाने के सम्बन्ध में विभिन्न प्रचार माध्यमों से व्यापक प्रचार-प्रसार करायें। श्री कुमार ने निर्देश दिया कि उप जिलाधिकारी व खण्ड विकास अधिकारी ग्राम प्रधान, सचिव व लेखपालों के माध्यम से ग्राम में उपलब्ध पराली का विवरण तैयार करायें। साथ ही ग्राम स्तरीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इस बात के निर्देश दे दिये जाएं कि पराली जलाने की घटना पर सतर्क दृष्टि बनाये रखें और यदि कहीं पर पराली जलाने की घटना होती है तो तत्काल सूचित करें। सभी एसडीएम व बीडीओ को यह भी निर्देश दिये गये कि पराली जलाने की घटना पर प्रभावी अंकुश के लिए सभी एहतियाती कदम उठाये जाएं। एस.डी.एम को निर्देश दिया गया कि पराली जलाये जाने की घटनाओं को अनदेखा न किया जाय बल्कि सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत त्वरित एवं कठोर कार्यवाही की जाय।

बैठक के दौरान डीएम व एसपी ने निर्देश दिया कि एसडीएम व सीओ थानों पर ग्राम प्रधानों व चैकीदारों के साथ बैठक कर सम्बन्धित को इस बात के लिए सचेत कर दें कि ग्राम में पराली जलाने की घटना न होने पाये। डीएम व एसपी ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि मिशन शक्ति अभियान की भांति पराली जलाने की घटना पर प्रभावी अंकुश के लिए भी अभियान संचालित किया जाय। पराली जलाने से सम्बन्धित घटनाओं पर प्रभावी अंकुश के लिए सभी सम्बन्धित अधिकारियों का व्हाट्सएप ग्रुप बनाये जाने का भी निर्देश दिया गया ताकि सूचनाओं का त्वरित गति से आदान-प्रदान हो सके।

मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना ने सभी एसडीएम व बीडीओ को निर्देश दिया कि किसानों को इस बात के लिए प्रेरित करें कि वे किसान बन्धु आवश्यकता से अधिक फसल अवशेष को नज़दीकी गौशाला/पशु आश्रय स्थल में पहुॅचायें अथवा मेसर्स विपुल इण्डस्ट्रीज़ जियो धर्मकांटा, आसाम रोड रिसिया, बहराइच मो.न. 9415036952 के संयत्र पर रू. 150=00 प्रति कुण्टल की दर से बेच भी सकते हैं। डीडी एग्री को निर्देश दिया कि बैनर के माध्यम से पराली के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक डाॅ. विपिन कुमार मिश्र, अपर जिलाधिकारी जयचन्द्र पाण्डेय, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार सहित एसडीएम, बीडीओ व अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

Back to top button
E-Paper