खाने पर विवाद: क्या भोले बाबा की यात्रा पर राहुल ने खाया नॉनवेज?

नई दिल्ली :  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कैलास मानसरोवर यात्रा के दौरान कथित तौर पर नॉनवेज खाने को लेकर पैदा हुए विवाद पर रेस्तरां का बयान सामने आया है। फेसबुक पर जारी बयान में वुटू रेस्तरां ने साफ किया है कि गांधी के नॉनवेज खाने को लेकर किए जा रहे दावे बिल्कुल झूठे हैं। एक बयान में कहा गया, ‘राहुल गांधी द्वारा ऑर्डर किए गए खाने को लेकर मीडिया की ओर से सवाल किए जा रहे हैं। हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि उन्होंने मेन्यू में से शुद्ध शाकाहारी भोजन ऑर्डर किया था।’

https://www.facebook.com/vootoo.com.np/posts/1991428214212750

वेटर ने कही नॉन वेज खान की बात

हालांकि मीडिया की खबर के मुताबिक रेस्टोरेंट के  वेटर ने बयान में कहा है कि राहुल गांधी रेस्टोरेंट में आए थे और उन्होंने नॉन वेज ऑर्डर किया.

Image result for खाने पर विवाद: क्या कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर राहुल ने खाया नॉनवेज?

रेस्तरां के बयान में यह भी कहा गया है कि हमारी ओर से कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा ऑर्डर किए गए खाने को लेकर मीडिया में कोई बयान नहीं दिया गया है। आपको बता दें कि राहुल के खाने को लेकर नया विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, नेपाली मीडिया में राहुल के खाने पर एक खबर प्रकाशित हुई, जिसके बाद सोशल मीडिया पर कई तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं। खबर में बताया गया कि 30 अगस्त को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी काठमांडू में थे और उसी रात उन्होंने यहां के वुटू रेस्तरां में नॉनवेज खाना खाया। वेटर का बयान भी सामने आया पर बाद में होटल प्रबंधन ने ऐसी खबरों को अफवाह बताया है।

इससे पहले नेपाली रेस्तरां, जहां राहुल खाना खाने के लिए रुके थे, उसकी वेबसाइट पर जानकारी दी गई कि वह 31 अगस्त को रेस्तरां में आए थे और उन्होंने अपनी टीम के साथ खाना खाया था। रिपोर्टों में कहा जा रहा था कि वेटर ने कहा है कि उन्होंने राहुल को नेवाई डिश सर्व की, जिसमें चिकन मोमोज, चिकन कुरकुरे शामिल था। इसके बाद कहा जाने लगा कि कैलास यात्रा के दौरान नॉनवेज खाकर राहुल ने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। हालांकि रेस्तरां ने ऐसी खबरों को सरासर गलत बताया है।

Back to top button
E-Paper