राज्यों के क्वॉरेंटाइन प्रोटोकॉल पर सहमति जताने पर ही आरक्षित होगा रेलवे टिकट

नई दिल्ली । कोरोना संकट और देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर भारतीय रेलवे ने नई दिल्ली को विभिन्न शहरों से जोड़ने वाली 15 जोड़ी वातानुकूलित ट्रेनों का टिकट आरक्षित करने में अब एक और शर्त जोड़ दी है। आईआरसीटीसी की वेबसाइट और मोबाइल ऐप से टिकट बुक करने पर यात्रियों को गंतव्य राज्यों के क्वॉरेंटाइन प्रोटोकॉल पर सहमति जताने पर ही टिकट आरक्षित होगा।

इससे पहले 13 मई से कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग के मद्देनजर रेलवे ने स्पेशल ट्रेनों से सफर करने वालों के लिए अपने गंतव्य स्टेशन का ही नहीं बल्कि वहां से आगे पहुंचने वाले स्थान अर्थात घर तक का भी पता देना अनिवार्य किया था।

भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम ( आईआरसीटीसी) के प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि रेलवे 12 मई से 15 जोड़ी वातानुकूलित ट्रेनों अर्थात कुल 30 रेलगाड़ियों का परिचालन कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस सप्ताह नई दिल्ली से यात्रियों को लेकर बेंगलुरु पहुंची राजधानी स्पेशल ट्रेन के यात्रियों द्वारा वहां राज्य सरकार के क्वॉरेंटाइन प्रोटोकॉल का विरोध करने की घटना भविष्य में दोबारा ना हो इसके लिए टिकट बुकिंग की प्रक्रिया में एक शर्त जोड़ी गई है।
उन्होंने कहा कि अब राजधानी स्पेशल ट्रेनों के लिए टिकट बुक करने वाले यात्रियों को पहले इस बात की पुष्टि करनी होगी कि वे गंतव्य राज्यों के संगरोध प्रोटोकॉल से अवगत हैं और वह उसका पालन करेंगे। उनकी स्वीकारोक्ति के बाद ही टिकट बुकिंग की प्रक्रिया जारी रहेगी और अंततः टिकट बुक हो जाएगा।
उल्लेखनीय है कि 14 मई को नई दिल्ली से बेंगलुरू पहुंचे राजधानी स्पेशल ट्रेन के करीब 200 यात्रियों ने पहले राज्य सरकार के इंस्टीट्यूशनल क्वॉरेंटाइन को मानने से इनकार कर दिया था जिसके चलते वहां काफी हंगामा हुआ। बाद में ज्यादातर तो यात्रियों ने सरकार के नियमों के तहत क्वॉरेंटाइन में जाने पर सहमति जता दी लेकिन 15 यात्री अंत तक अड़े रहे जिसके चलते रेलवे को उन्हें वापस दिल्ली लेकर आना पड़ा था।

Back to top button
E-Paper