कोरोना संकट के बीच स्पेशल ट्रेनों से  सफर के लिए रेलवे ने बदले नियम, एक क्लिक में जानिए

नई दिल्लीकोरोना वायरस के इस दौर में सफर के नियम बदल गए हैं। वैसे तो यातायात के ज्यादातर साधन बंद ही हैं लेकिन कुछ खास ट्रेनें चलाई जा रही हैं जिससे दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को घर पहुंचाया जा सके। इनमें सफर के लिए भी सरकार ने कई सारे नियम तय किए हैं जो कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हैं। सबसे ताजा नियम यह है कि आपको उस जगह का अड्रेस देना होगा जहां आपको जाना है। टिकट बुक, स्टेशन पहुंचने से लेकर यात्रा कर के जो नियम बदले हैं उनके बारे में यहां जानिए

1. ट्रेन यात्रा से पहले अब आपको बताना होगा कि आप रुकेंगे कहां। विदेश यात्रा के तर्ज पर भारतीय रेलवे अब सफर से पहले फॉर्म भरवाएगी जिसमें गंतव्य पर जाकर कहां रुका जाएगा यह बताना होगा। उस जगह का पूरा पता लिखना होगा। ऐसे इसलिए कि जरूरत होने पर आपका आसानी से पता लगाया जा सके।

2. ट्रेन सफर के दौरान मास्क लगाना जरूरी है। सभी यात्रियों से अपील की जा रही है कि वे बिना मास्क सफर न करें, उनके स्वास्थ्य को बड़ा खतरा हो सकता है।

3. फिलहाल जो 15 जगहों के लिए विशेष ट्रेनें चलाई गई हैं उसमें आरोग्य सेतु ऐप जरूरी कर दिया गया है, जिनके फोन में यह ऐप नहीं होगा, उनसे स्टेशन पर ही यह डाउनलोड कराया जाएगा।

4. देशभर में फिलहाल ट्रेन सर्विस बंद है। सिर्फ 15 जगहों के लिए ट्रेनें चलाई जा रही हैं। फंसे लोगों को अपने गृह राज्य भेजने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन के अलावा स्पेशल राजधानी ट्रेनें चलाई गई हैं।

5. ट्रेनों में अडवांस रिजर्वेशन अधिकतम सात दिन के लिए होगा। ट्रेन के चलने से 24 घंटे पहले तक टिकट कैंसल करा सकते हैं लेकिन कैंसल होने पर किराये का 50 प्रतिशत कट जाएगा।

6. सोशल डिस्टेंसिंग के मामले में रेलवे ने साफ हिदायत जारी की है। कहा है कि उनकी तरफ से तो कोशिशें की ही जा रही हैं लेकिन लोगों को खुद भी सोशल डिस्टेंस बनाकर चलना होगा।

7. टिकट सिर्फ रेलवे की वेबसाइट से ऑनलाइन ही मिलेगी। रेलवे के काउंटर टिकट के लिए बंद हैं। बस कुछ खास कैटगरी के लोगों मसलन सांसदों, स्वतंत्रता सेनानियों के लिए काउंटर से टिकट की व्यवस्था होगी।

8. मरीज, छात्रों, दिव्यांगों को टिकट में रियायत होगी। बुजुर्गों के लिए यह रियायत नहीं होगी। दिव्यांगों और पूर्व सांसदों के लिए 3 एसी में 2 बर्थ, 1 एसी में 2 बर्थ और 2 एसी में 4 बर्थ का कोटा होगा।

9. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक जाने के लिए अपनी गाड़ी का ही इस्तेमाल करना होगा। अगर कोई शख्स एनसीआर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचना चाहता है तो उसे बॉर्डर पर ई-टिकट दिखाना होगा।

10. यात्रियों को अपने तौलिया और चादर का खुद इंतजाम करना होगा। सिर्फ डिब्बाबंद खाना और हैंड सैनेटाइजर मुहैया कराया जाएगा।

Back to top button
E-Paper