राममंदिर निर्माण पर अपनी चुप्पी तोडेंगे बाबर के वंशज प्रिंस याकूब

गोपाल त्रिपाठी
गोरखपुर। ज्योतिष धर्मगुरू डाॅ धनेश मणि त्रिपाठी ने कहाकि सुप्रीम कोर्ट के प्रमाण पत्र के अनुसार बाबर के वंशज ग्रेड सन आफ मुगल इम्परर बहादुरशाह जफर के पडपोते प्रिंस याकुब हबीबुद्दीन तुस्सी आगामी 12 अक्टूबर को गोरखपुर में आयोजित रामजन्म भूमि सिर्फ राम का बाबरी मस्जिद फिर कैसे?’’ विषय पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत कर बाबरी मस्जिद एवं श्रीराम मंदिर निर्माण पर अपनी राय रखेंगे।
   डाॅ धनेश मणि ने कहाकि बाबर का वंशज होने के नाते प्रिंस याकूब का राम मंदिर अयोध्या से गहरा संबंध है। राम मंदिर व बाबरी मस्जिद के विवाद के कारण देश के आम नागरिकों के साथ युवाओं का समय इसकी चर्चा में बर्बाद तो हो ही रहा है, हिन्दु-मुसलमान के बीच तनाव भी बढता जा रहा है। भारत किसी समय में विश्वगुरू रहा है मगर अब ऐसी स्थिति नहीं रही। देश की इस गरिमामय उपलब्धि से वंचित रखने में तमाम कारणों मेें से अयोध्या राम मंदिर व बाबरी मस्जिद विवाद भी एक महत्वपूर्ण कारण है। हमारी पहली मुलाकात के वार्ता के आधार पर हमें आशा ही नहीं विश्वास भी है कि अयोध्या का श्री राम मंदिर जिसे तोड कर बाबरी मस्जिद बनाया गया। जिसका विवाद दीर्घ काल से चल रहा है। उन्होंने प्रिंस याकूब से राम जन्म भूमि पर भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण में आप सकारात्मक पहल करने की अपील की है। जिससे भारत ही नहीं विश्व भर के हिन्दू मुस्लिम आपस में भातृवत स्नेह रखे। इस प्रयास से भारत के हिन्दू, मुश्लिम, सिख व ईसाई इत्यादि सभी धर्मो के लोग एक होकर भारत के सर्वागीण विकास के साथ भारत को पुनः विश्वगुरू बनाने का सार्थक प्रयास करेंगे।
Back to top button
E-Paper