यूपी के नेताओं पर दो राज्यों का जिम्मा….

राजीव षर्मा,

अलीगढ। पांच राज्यों में दो की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश के भाजपा पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं पर रहेगी। भाजपा उत्तर प्रदेष का फोकस राजस्थान और मध्य प्रदेष विधानसभा चुनावों पर रहेगा। पार्टी के कार्यकर्ता, पदाधिकारी, विधायक और सांसदों के नाम ब्रज प्रदेष संगठन ने पार्टी हाईकमान को भेज दिये हैं। इसमें अलीगढ, हाथरस और मथुरा के पदाधिकारियों का नाम राजस्थान विधानसभा चुनाव की सूची में भेजा गया है।

देष के पांच राज्यों में राजस्थान, मध्य प्रदेष, छत्तीसगढ, मिजोरम और तेलंगना में हो रहे है। भाजपा के लिये इन पांचों राज्यों के चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित षाह की प्रतिश्ठा से जुडे हुए हैं। इसके बाद लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंक दिया जाएगा। इन पांचों राज्यों के चुनाव 2019 में प्रस्तावित लोकसभा चुनाव पर असर डाल सकते हैं। इसके मददेनजर पार्टी हाईकमान सकते में है। राजस्थान की नजदीकी अलीगढ, हाथरस और मथुरा से है। इसलिये राजस्थान विधानसभा चुनाव में इन तीनों जिलों के पदाधिकारी, सांसद और विधायकों के नाम प्रचार प्रसार के लिये पैनल में भेजे गए है। आगरा, फिरोजाबाद और मैनपुरी के पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ता, सांसद और विधायकों के नाम मध्य प्रदेष विधानसभा चुनाव में प्रचार प्रसार के लिये गए हैं।

जातिवाद पर भी फोकस
भाजपा जातिवाद पर भी फोकस किये हुए हैं। मध्य प्रदेष और राजस्थान के पार्टी प्रत्याषी वोट बैंक सुध लेने के लिये जाति वाद के लिये नेताओं की पैरवी भी करा सकते हैं। इसलिये जिस विधानसभा जिस जाति का वोट बैंक अधिक होगा, वहां पर उसी जाति के बडे नेताओं से जाल बिछवाया जाएगा। इस सूची में ब्राहमण, ठाकुर, अनुसूचित जाति और पिछडा वर्ग नेताओं पर भी फोकस किया जाएगा।

Back to top button
E-Paper