स्कूल बने तालाब, घुटनों के उपर पानी से गुजर कर शिक्षा ले रहे नौनिहाल

शीतला प्रसाद 

गौरीगंज, अमेठी। जिले में बेसिक शिक्षा के हालात बद से भी बदतर है। सरकार  स्कूलों की दशा सुधारने के लिए पैसे तो भेजती है लेकिन उन पैसों से होने वाले कार्य कही दिखते नही हैं तभी तो सरकारी स्कूल बच्चों की पाठशाला कम बल्कि तालाब की तरह नजर आते है। मामला अमेठी जनपद के नगर पालिका परिषद गौरीगंज के बरनाटीकर प्राथमिक
विद्यालय से जुडा है।

इस गांव में ऐसा भी स्कूल है जो बरसात के दिनों में कही से स्कूल नहीं लगता है । जलभराव के साथ-साथ बडी-बडी झाडियां व परिसर  में गंदगी का अम्बार भी है, अब ऐसे में बच्चे स्कूल आने से कतराने लगे
है। जलभराव की समस्या के बाद जो बच्चे स्कूल आते भी है वे कमरे में कैद  होकर रह जाते है वजह बरसात का गंदा पानी और बीमारियों का खतरा। वहीं  अभिभावकों की माने तो  विद्यालय में जलभराव की समस्या है लेकिन  उच्चाधिकारियों को जानकारी देने के बाद भी अभी तक विद्यालय परिसर में  जलभराव की समस्या को दूर नहीं किया गया। इस सम्बंध में जिला बेसिक  शिक्षाधिकारी विनोद कुमार मिश्र ने बताया कि जलभराव की समस्या का मामला
संज्ञान में है ग्राम प्रधान को दिशा-निर्देश दिये गये है जल्द ही  विद्यालय परिसर में मिटटी डलवाकर जलभराव की समस्या को दूर किया जायेगा।

Back to top button
E-Paper