मिहींपुरवा के रायबोझा में मनरेगा योजना के 02 कार्य श्रमदान घोषित

जांच में कार्य स्थल पर नही मिले मजदूर
ज़ैद खान
मिहींपुरवा/बहराइच l मिहीपुरवा विकास खण्ड के ग्राम रायबोझा में परियोजना निदेशक डी.आर.डी.ए. अनिल कुमार सिंह के निर्देश पर कार्य स्थल की जांच की गयी विकास खण्ड मिहींपुरवा अन्तर्गत महात्मा गाॅधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारण्टी योजना अन्तर्गत स्वीकृत लागत रू. 3.82 लाख से ग्राम पंचायत रायबोझा में इमरान पेट्रोल पम्प से रायबोझा पुलिया तक नाला निर्माण तथा स्वीकृत लागत रू. 3.43 लाख से कासिम खाॅ के खेत से भुसैली के खेत तक नाला खुदाई व सफाई कार्य का अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी बहराइच विक्रान्त सिंह द्वारा स्थलीय सत्यापन किया गया।


ग्राम पंचायत अधिकारी मनीष चैधरी व ग्राम प्रधान की मौजूदगी में किये गये स्थलीय सत्यापन के दौरान नाला निर्माण कार्य के निरीक्षण के दौरान 09 श्रमिक कार्य करते पाये गये जबकि नाला खुदाई व सफाई कार्य स्थल पर कोई श्रमिक मौजूद नहीं था। जबकि नाला निर्माण के लिए 2384 से 2387 तक जारी मस्टर रोल में 35 श्रमिक तथा नाला खुदाई व सफाई कार्य के लिए 2400 से 2403 तक जारी मस्टर रोल में 32 श्रमिक अंकित किये गये हैं। कार्य स्थल से अनुपस्थित ग्राम रोज़गार सेवक संगम लाल से दूरभाष पर सम्पर्क करने पर बताया  कि मौके पर 70 श्रमिक लगे हैं
कार्यक्रम अधिकारी/खण्ड विकास अधिकारी मिहींपुरवा चन्द्रशेखर प्रसाद उपरोक्त स्थिति को ग्राम पंचायत सचिव/ग्राम रोज़गार सेवक एवं ग्राम प्रधान द्वारा मनरेगा योजनान्तर्गत कराये जा रहे कार्यों का व्यापक अनुश्रवण न करते हुए कूटरचित तरीके से मस्टररोल जारी कराकर उच्चाधिकारियों को भ्रमित कर शासकीय धन का दुरूपयोग/अपहरण किये जाने का प्रयास मानते हुए उपरोक्त कार्यों को श्रमदान घोषित कर दिया है। श्री प्रसाद ने ग्राम रोज़गार सेवक को तत्काल स्थिति स्पष्ट करने के निर्देश देते हुए ब्लाक अन्तर्गत समस्त ग्राम प्रधानों व ग्राम पंचायत सचिवों को सचेत किया है कि इस प्रकार की पुनरावृत्ति पाये जाने पर कठोर कार्रवाई की जायेगी।

Back to top button
E-Paper